Now Reading
अलर्ट;अगले माह छह दिन के लिए बंद हो सकतीं है बन्द

अलर्ट;अगले माह छह दिन के लिए बंद हो सकतीं है बन्द

अलर्ट हो जाइए।छह दिनों तक देश में बैंक बंद रह सकते हैं।

नई दिल्लीः अगर आप बैंक के कामकाज निपटाने के बारे में सोच रहे हैं तो अलर्ट हो जाइए। ऐसा इसलिए क्योंकि अगले महीने लगातार छह दिनों तक देश में बैंक बंद रह सकते हैं। 11 मार्च से बैंक यूनियनों ने तीन दिन की हड़ताल की घोषणा की है यानी 11 मार्च, 12 मार्च और 13 मार्च 2020 को हड़ताल के चलते बैंक बंद रह सकते हैं। 10 मार्च को होली के त्योहार के अवसर पर बैंक बंद होंगे। वहीं 14 मार्च को माह का दूसरा शनिवार है और 15 मार्च को रविवार को, इसलिए उस दिन भी आप बैंक का कोई कामकाज नहीं कर पाएंगे।
प्रभावित होंगी बैंकिंग सेवाएं
बैंक कर्मचारियों की देशव्यापी हड़ताल की वजह से सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों में नकदी जमा और निकासी, चेक क्लीरेंस और कर्ज वितरण जैसी विभिन्न सेवाएं प्रभावित रह सकती हैं। बैंक कर्मचारियों के संगठन वेतन वृद्धि की मांग को लेकर हड़ताल पर रहेंगे।
एक अप्रैल से होगी अनिश्चितकालीन हड़ताल
इससे पहले 31 जनवरी 2020 और एक फरवरी 2020 को बजट पेश होने के दिन भी बैंकों में हड़ताल थी। बता दें कि बैंक यूनियन ने एक अप्रैल से अनिश्चितकालीन हड़ताल पर जाने की भी घोषणा की है। हालांकि, आईसीआईसीआई बैंक और एचडीएफसी बैंक जैसे निजी क्षेत्र के बैंक खुले रहेंगे
इस वजह से होगी हड़ताल
दिल्ली प्रदेश बैंक कर्मचारी संगठन के महासचिव अश्वनी राणा ने बताया था कि इंडियन बैंक एसोसिएशन ने वेतन में 12.5 फीसदी वृद्धि करने का प्रस्ताव दिया है, जो कि मंजूर नहीं है। इससे बैंकिंग सेवाओं पर असर पड़ सकता है। बैंक एम्पलॉइज फेडरेशन ऑफ इंडिया (BEFI) और ऑल इंडिया बैंक एम्पलॉइज एसोसिएशन (AIBEA) के मुताबिक वेतन संशोधन को लेकर इंडियन बैंक्स एसोसिएशन (IBA) के साथ बातचीत विफल रहने के बाद बैंक कर्मचारी 11 से 13 मार्च तक तीन दिन तक हड़ताल करेंगे।

बैंक यूनियन की यह है मांग

बैंक यूनियनों की मांग है कि वेतन में कम से कम 20 फीसदी की वृद्धि की जाए।
बैंकों में पांच दिन का कार्यदिवस हो।
बेसिक पे में स्पेशल भत्ते का विलय हो।
एनपीएस को खत्म किया जाए।
पेंशन का अपडेशन हो।
परिवार को मिलने वाली पेंशन में सुधार।
स्टाफ वेलफेयर फंड का परिचालन लाभ के आधार पर बांटना।
रिटायर होने पर मिलने वाले लाभ को आयकर से बाहर करना।
शाखाओं में कार्यों के घंटे और लंच समय का सही से बटवारा।
अधिकारियों के लिए बैंक में कार्य के घंटे का नियमतिकरण।
कांट्रैक्ट और बिजनेस कॉरेस्पॉन्डेंट के लिए समान वेतन।

File photo

View Comments (0)

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Scroll To Top