Saturday, September 26, 2020
ताज़ातरीनराज्य

सरकारी जमीन को फर्जी दस्तावेज बनाकर बेचने वाले भूमाफियाओं को पुलिस ने किया गिरफ्तार

इंदौर. 50 करोड़ रुपए से अधिक की कीमत वाली सरकारी जमीन को फर्जी दस्तावेज बनाकर बेचने वाले भूमाफियाओं को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। आरोपियों ने कलेक्टर कार्यालय में फोटोकॉपी दुकान संचालित करने वाले से उक्त जमीन के फर्जी दस्तावेज तैयार करवाए थे। मामले में पकड़ाया मुख्य आरोपी सुरेश यादव एक राजनैतिक पार्टी का जिलाध्यक्ष बताया जा रहा है।

एसटीएफ इंदौर के पुलिस अधीक्षक पीवी शुक्ला ने बताया कि तेजपुर गड़बड़ी के खसरा नंबर 1488 की 4 एकड़ चरनोई की जमीन पर कब्जा करने और उसे बेचने के संबंध में प्रकरण दर्ज किया गया था। इस मामले में सुरेश कुकरेजा, जयेश कुकरेजा और कब्जाधारी अवंतीबाई और शकुंतलाबाई को एसटीएफ द्वारा गिरफ्तार किया गया था। मामले की जांच में यह पाया गया कि इस फर्जीवाड़े का मुख्य सूत्रधार सुरेश यादव है जो एक राजनैतिक पार्टी का जिला अध्यक्ष भी है। आरोपी सुरेश यादव ने देवनारायण अवंती बाई और शकुंतला बाई के साथ वर्ष 2016 में एक आम मुख्तारनामा किया था। इसके बाद यादव ने सुरेश कुकरेजा एवं अन्य को फर्जी ऋण पुस्तिका के द्वारा यह जमीन 76 लाख रुपए में बेच दी। मामले में पुलिस ने सुरेश यादव को गिरफ्तार किया है।

फोटोकॉपी दुकान संचालक भी गिरफ्तार
प्रकरण में फर्जी ऋण पुस्तिका बनाने वाले निरंजन प्रजापत उर्फ नीरू पिता भंवरलाल प्रजापत निवासी छत्रपति नगर इंदौर को भी गिरफ्तार किया गया है। आरोपी कलेक्टर कार्यालय में फोटोकॉपी की दुकान संचालित करता है। इस दुकान के माध्यम से ही आराेपी ने ऑफिस कानूनगो, पटवारियों से संपर्क किया और 15 लाख रुपए की रिश्वत देकर फर्जी दस्तावेज तैयार किए। पूछताछ में आरोपी ने बताया कि वह रविंद्र तोमर और तहसील- कलेक्टर के अन्य शासकीय कर्मचारियों से सांठगांठ कर फर्जीवाड़ा करता था।

Leave a Reply