Now Reading
दिल्ली पुलिस मौन तमाशा देख रही . क्या हमें गृह युद्ध की तरफ धकेला जा रहा है?- दिग्विजय सिंह

दिल्ली पुलिस मौन तमाशा देख रही . क्या हमें गृह युद्ध की तरफ धकेला जा रहा है?- दिग्विजय सिंह

इंदौर. कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और राज्यसभा सांसद दिग्विजय सिंह (Digvijaya Singh) ने दिल्ली में नागरिकता कानून के खिलाफ हो रहे प्रदर्शनों के विरोध में हुई फायरिंग की घटनाओं को लेकर भाजपा सरकार और चुनाव आयोग (Election Commission) पर सवाल उठाए हैं. उन्होंने कहा कि बीजेपी हर कदम कालक्रम (Chronology) के हिसाब से चल रही है. पहले अनुराग ठाकुर (Anurag Thakur), फिर वो नाबालिग जिसने जामिया में गोली चलाई, फिर सीएम योगी आदित्यनाथ और अब कपिल गुज्जर. दिल्ली पुलिस मौन तमाशा देख रही है. पुलिस कमिश्नर को तो एक्सटेंशन मिल गया. क्या हमें गृह युद्ध की तरफ धकेला जा रहा है?

चुनाव आयोग नहीं दे रहा उचित दंड
दिग्विजय ने आरोप लगाया कि मोदी सरकार के मंत्री की भड़काऊ नारेबाजी के गंभीर मामले में चुनाव आयोग ने उन्हें उचित दंड नहीं दिया है. उन्होंने अनुराग ठाकुर के बयान को लेकर केंद्र पर निशाना साधते हुए कहा कि गृह मंत्री अमित शाह ने हमें एक क्रोनोलॉजी दी कि- पहले नागरिकता संशोधन अधिनियम लाया जाएगा, फिर एनपीआर (राष्ट्रीय जनसंख्या रजिस्टर) और बाद में एनआरसी (राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर) पेश किया जाएगा.

पुलिस चुप रहती है
सिंह ने इंदौर में भाषण के दौरान कहा, ‘एक और क्रोनोलॉजी का अब हमें पता लग रहा है. एक केंद्रीय मंत्री का कहता है कि ‘गोली मारो’ और फिर उनका एक आदमी आता है और गोलियां चलाता है, पुलिस खड़ी रहती है. क्या आपने इस क्रोनोलॉजी को समझा? यह एक गंभीर बयान था लेकिन चुनाव आयोग ने उसे कोई सजा नहीं दी. क्या आपने इस क्रोनोलॉजी को समझा?

View Comments (0)

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Scroll To Top