Tuesday, October 27, 2020
ताज़ातरीनराजनीतिराज्य

एक विधायक ने जन भागीदारी अध्यक्ष पद संभाला तो दूसरा बोला – कार्यकर्ताओ का हक नही मारूंगा

 

ग्वालियर । कॉलेजों की जन भागीदारी समिति  के अध्यक्ष पद पर नियुक्ति को लेकर कांग्रेस में मतभेद उभरकर आ गए है । एक ओर जहां ग्वालियर दक्षिण क्षेत्र के विधायक प्रवीण पाठक ने जहां अपने क्षेत्र के कॉलेज में किसी समर्थक या कार्यकर्ता को मनोनीत कराने की जगह खुद की ही नियुक्ति करा ली तो पूर्व क्षेत्र के विधायक मुन्ना लाल गोयल ने परोक्ष रूप से उन पर तंज कसा दिया ।

श्री गोयल के समर्थकों ने सोशल मीडिया पर एक खबर वायरल की जा रही है इसमें उनकी प्रशंसा के बहाने विधायक श्री पाठक को निशाना बनाया जा रहा है । इसमे कहा गया है कि ग्वालियर पूर्व के #विधायक श्री  मुन्नालाल गोयल  ने  उदाहरण पेश किया है ।जहाँ एक ओऱ  महाविद्यालयों में जनभागीदारी पाने की होड़ सी मची हुई है..वहीं दूसरी ओर ग्वालियर पूर्व के विधायक श्री मुन्नालाल_गोयल जी ने स्पष्ट किया कि वह चुनाव में काम करने वाले कांग्रेस कार्यकर्ताओं एवं छात्र नेताओं के हक को छीनने का काम नही करेंगे ।।
#महाविद्यालयों में #जनभागीदारी नही दिए जाने पर प्रदेश के युवा कार्यकर्ता नाराज है ।
श्री  मुन्नालाल_गोयल  ने कांग्रेस कार्यकर्ताओं एवं युवाओ की भावनाओँ का सम्मान रखते हुए किसी भी महाविद्यालय की जनभागीदारी अध्यक्ष बनने के लिए इंकार किया ।

गौरतलब है कि अभी तक अपवाद को छोड़कर इन समितियों में पार्टियां अपने नेताओं और कार्यकर्ताओं को एडजस्ट करती थी इसलिए सरकार बदलने के बाद जब ये समितियां भंग हुई

तभी से कांग्रेस कार्यकर्ता  इन समितियों में नियुक्ति की बाट जोह रहे थे लेकिन सरकार ने इन समितियों की अध्यक्षी विधायको को ही सौंपना शुरू कर दिया । ग्वालियर में पहली नियुक्ति कमला राजा गर्ल्स कॉलेज में हुई जहां इस पद पर क्षेत्रीय विधायक प्रवीण पाठक की ही ताजपोशी कर दी गई । उन्होंने कार्यभार भी संभाल लिया लेकिन अब गोयल द्वारा यह पद न लेकर कार्यकर्ताओं को सौंपने की बात कहकर मामले को एक नया रूप दे दिया ।

Leave a Reply