Now Reading
पाकिस्तानी और बांग्लादेशी मुसलमानों को बाहर ‘फेंक’ देना चाहिए-शिवसेना

पाकिस्तानी और बांग्लादेशी मुसलमानों को बाहर ‘फेंक’ देना चाहिए-शिवसेना

मुंबई. नागरिकता संशोधन कानून और एनआरसी मुद्दे पर शिवसेना का रुख अब बदलता नजर आ रहा है। शनिवार को पार्टी ने मुखपत्र सामना में लिखा है कि देश में घुसे पाकिस्तानी और बांग्लादेशी मुसलमानों को देश से निकालकर बाहर फेंक देना चाहिए। इसमें कोई संदेह नहीं है। इससे पहले शिवसेना ने कांग्रेस-राकांपा के साथ गठबंधन सरकार बनाने के बाद सीएए और एनआरसी का विरोध किया था। दरअसल,  23 जनवरी को राज ठाकरे ने मनसे ने मुंबई में पार्टी का महाधिवेशन बुलाया था। इसमें राज ठाकरे ने 9 फरवरी को मुंबई में रह रहे अवैध घुसपैठियों के खिलाफ रैली करने की बात कही थी।

राज ठाकरे पर साधा निशाना
इस संपादकीय में मनसे प्रमुख राज ठाकरे पर भी तंज कसा है। इसमें लिखा- पाकिस्तानी और बांग्लादेशी मुसलमानों को बाहर निकालने के लिए किसी राजनीतिक दल को अपना झंडा बदलना पड़े, ये मजेदार है। दूसरी बात ये कि इसके लिए एक नहीं, दो झंडों की योजना बनाना ये दुविधा या फिसलती गाड़ी के लक्षण हैं। राज ठाकरे और उनकी 14 साल पुरानी पार्टी का गठन मराठा मुद्दे पर हुआ था। लेकिन अब उनकी पार्टी हिंदुत्ववाद की ओर जाती दिख रही है। शिवसेना ने मराठी मुद्दे पर बहुत काम किया हुआ है। इसलिए मराठियों के बीच जाने के बावजूद उनके हाथ कुछ नहीं लगा और लगने के आसार भी नहीं हैं।

शिवसेना ने आगे लिखा, ‘मनसे प्रमुख को अपने मुद्दे रखने और उसे आगे बढ़ाने का पूरा अधिकार है। लेकिन उनकी आज की नीति और इसी मुद्दे पर 15 दिन पहले की नीति में कोई मेल नहीं दिख रहा। उन्होंने कल कहा कि नागरिकता कानून को हमारा समर्थन है और कानून के समर्थन के लिए हम मोर्चा निकालने वाले हैं। लेकिन एक महीने पहले उनकी अलग और उल्टी नीति थी।’

शिवसेना ने अपने गठबंधन पर फिर दी सफाई
संपादकीय में शिवसेना ने लिखा ‘शिवसेना ने प्रखर हिंदुत्व के मुद्दे पर देशभर में जागरूकता के साथ बड़ा काम किया है। अहम बात यह है कि शिवसेना ने हिंदुत्व का भगवा रंग कभी नहीं छोड़ा। यह रंग ऐसा ही रहेगा। इसलिए दो झंडे बनाने के बावजूद राज के झंडे को वैचारिक समर्थन मिल पाएगा, इसकी संभावना नहीं दिख रही। शिवसेना ने कांग्रेस और राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के साथ मिलकर महाराष्ट्र में सरकार बनाई। इसे रंग बदलना कैसे कहा जा सकता है?

View Comments (0)

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Scroll To Top