Now Reading
भारत बंद / सरकार की आर्थिक नीतियों का विरोध

भारत बंद / सरकार की आर्थिक नीतियों का विरोध

भोपाल/ जालंधर. ऑल इंडिया ट्रेड यूनियंस ने आज भारत बंद का ऐलान किया है। इसका असर देश के कुछ हिस्सों में देखने को मिला। पश्चिम बंगाल के उत्तर 24 परगना जिले के कांचरापाड़ा में प्रदर्शनकारियों ने रेलवे ट्रैक बंद कर दिया, जबकि सिलीगुड़ी में उत्तर बंगाल स्टेट ट्रांसपोर्ट कॉर्पोरेशन के बस ड्राइवरों ने हेलमेट पहनकर गाड़ी चलाई। मुंबई में भारत पेट्रोलियम कॉर्पोरेशन लिमिटेड के कर्मचारियों ने भारत पेट्रोलियम में विनिवेश के फैसले के खिलाफ प्रदर्शन किया। वहीं, चेन्नई में माउंट रोड पर कर्मचारियों ने प्रदर्शन किया।

भारत बंद को भारतीय व्यापार संघ, ऑल इंडिया यूनाइटेड ट्रेड यूनियन सेंटर, हिंद मजदूर सभा (एचएमएस), स्व-रोजगार महिला संघ, ऑल इंडिया ट्रेड यूनियन कांग्रेस (एआईटीयूसी), लेबर प्रोग्रेसिव फेडरेशन शामिल हैं। इसके अलावा (एलपीएफ), यूनाइटेड ट्रेड यूनियन कांग्रेस (यूटीयूसी), ऑल इंडिया सेंट्रल काउंसिल ऑफ ट्रेड यूनियंस (एआईसीसीटीयू), इंडियन नेशनल ट्रेड यूनियन कांग्रेस (आईएनटीयूसी) और ट्रेड यूनियन कोऑर्डिनेशन सेंटर ने समर्थन दिया है। हड़ताल में 25 करोड़ कर्मचारियों के शामिल होने का अनुमान है।

अपडेट्स

  • मुंबई: शिवसेना ने ट्रेड यूनियन के भारत बंद को समर्थन दिया। पार्टी के मुखपत्र ‘सामना’के मुताबिक, भाजपा सरकार के पहले कार्यकाल ने उद्योग और कर्मचारी वर्ग को खासा नुकसान पहुंचाया है। इसका कारण सरकार के नोटबंदी और जीएसटी जैसे फैसले रहे हैं।
  • दिल्ली: राहुल गांधी का ट्वीट-  मोदी-शाह सरकार की जन-विरोधी नीतियों ने विनाशकारी बेरोजगारी को बढ़ावा देकर हमारे सार्वजनिक उपक्रमों को कमजोर किया है। आज 25 करोड़ कर्मचारी हड़ताल पर हैं। मैं उन सभी को सलाम करता हूं।
  • तमिलनाडु: चेन्नई में माउंट रोड पर कर्मचारियों ने प्रदर्शन किया।
  • उत्तर प्रदेश: पब्लिक सेक्टर बैंकों, बीएसएनएल, डाक और एलआईसी समेत कई दफ्तरों में कामकाज ठप। हड़ताल को अखिल भारतीय राज्य सरकार कर्मचारी महासंघ और महिला आंगनबाड़ी कर्मचारी संघ का भी समर्थन।
  • हरियाणा: पुलिस की मौजूदगी में हरियाणा रोडवेज के अलग-अलग डिपो में कर्मचारियों ने प्रदर्शन किया। लेकिन, इस बीच भी बसें चल रही हैं। गुड़गांव में रोडवेज की 66 बसें, भिवानी में 10 बसें और सिरसा डिपो से 5 बसें चली हैं। कैथल रोडवेज जीएम ने दावा किया है कि 115 बसें चली हैं।
  • पंजाब: जालंधर में हड़ताल का असर। वाम संगठनों ने इंडस्ट्रियल एरिया फोकल प्वाइंट एक्सटेंशन की रोड ब्लॉक की। भारतीय जीवन बीमा निगम के कार्यालय पर भी कर्मचारियों ने प्रदर्शन किया।
View Comments (0)

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Scroll To Top