Now Reading
साल के पहले दिन झटका, महंगा हुआ रेल का सफर

साल के पहले दिन झटका, महंगा हुआ रेल का सफर

Indian Railways: रेलवे ने साल के पहले दिन यात्रियो को झटका दिया है। यात्री किराये में इजाफा किया गया है और नई दरें नए साल 1 जनवरी 2020 से लागू हो गई हैं। उपनगरीय ट्रेनों के किराए में कोई बदलाव नहीं किया गया है, जबकि सामान्य नॉन-एसी, गैर-उपनगरीय ट्रेनों के किराए में प्रति किलोमीटर एक पैसा की वृद्धि की है। इसी तरह मेल/एक्सप्रेस नॉन-एसी ट्रेनों के किराए में प्रति किलोमीटर दो पैसे तथा एसी श्रेणी के किराए में प्रति किलोमीटर चार पैसे की वृद्धि की गई है।

शताब्दी, राजधानी तथा दुरंतो जैसी प्रीमियम ट्रेनों का भी किराया इसी दर से बढ़ा है। मालूम हो कि 1,447 किलोमीटर की दूरी तय करने वाली दिल्ली-कोलकाता राजधानी एक्सप्रेस का किराया 4 पैसा प्रति किलोमीटर के हिसाब से बढ़ेगा और कुल किराए में करीब 58 रुपए का इजाफा हुआ। आदेश के अनुसार, आरक्षण (रिजर्वेशन) शुल्क तथा सुपरफास्ट चार्ज में कोई वृद्धि नहीं की गई है। पहले बुक कराए गए टिकटों पर भी नई दरें लागू नहीं होंगी। नई किराया सूची में सब अर्बन यानी उपनगरीय किराये में कोई इजाफा नहीं किया गया है।नॉन एसी और नॉन सब अर्बन के यात्री भाड़े में 1 पैसा प्रति किलोमीटर के हिसाब से बढ़ाया गया है। मेल और एक्‍सप्रेस श्रेणी की नॉन एसी ट्रेनों के भाड़े में 2 पैसे प्रति किलोमीटर के मान से इजाफा किया गया है। बीते कुछ समय से रेलवे ने यात्री भाड़े में इजाफा नहीं किया था। गत वर्ष संसद की समिति ने सिफारिश की थी लेकिन रेलवे को एक तयशुदा समय के भीतर यात्री भाड़े का रीव्‍यू करना चाहिये।यात्री किराये में बढ़ोतरी को लेकर रेलवे मंत्रालय ने ट्वीट करते हुए बताया कि रेलवे स्टेशनों और ट्रेनों में यात्री सुविधाओं और सुविधाओं का विस्तार करने के लिए, यात्रियों के किसी भी वर्ग पर बोझ बढ़ाए बिना ट्रेन का किराया मामूली बढ़ाना अनिवार्य हो गया है। भारतीय रेलवे का तेजी से आधुनिकीकरण इस फेयर रीव्‍यू के माध्यम से किया जाएगा।

View Comments (0)

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Scroll To Top