Tuesday, October 27, 2020
राज्य

नागरिकता बिल / उप्र में कई जिलों में प्रदर्शन: संभल में सपा सांसद की सभा पर रोक

संभल. नागरिकता संशोधन कानून को लेकर उत्तर प्रदेश के कई जिलों में विरोध प्रदर्शन जारी है। संभल में इंटरनेट सेवाएं ठप कर दी गईं हैं। यहां मंगलवार को होने वाली सपा सांसद डॉ. शफीकुर्रहमान वर्क की सभा को जिला प्रशासन ने अनुमति नहीं दी है। डीएम ने इसकी वजह कानून व्यवस्था बताई है। जिला प्रशासन ने सुरक्षा के मद्देनजर ऐहतियातन सम्भल शहर समेत पूरे जिले में बड़ी संख्या में सुरक्षा बल तैनात किए हैं। धारा 144 प्रभावी है। संवेदनशील इलाकों में पुलिस लगातार मार्च कर रही है।

सम्भल के सांसद डॉ. शफीकुर्रहमान वर्क ने नागरिकता संशोधन बिल को मुस्लिम विरोधी कानून बताते हुए इसे गलत तरीके से पारित करने का आरोप लगाया था। उन्होंने कहा था कि यह देश, सभी धर्म, जाति और वर्ग का है। इस पर किसी एक का अधिकार नहीं है। मौजूदा सरकार ने इस मुस्लिम विरोधी कानून को पास करा दिया। सरकार की नियत साफ नहीं है। इसलिए इस कानून को स्वीकार नहीं किया जाएगा। सरकार की इस मनमानी को चलने नहीं दिया जाएगा। इस कानून के खिलाफ आवाज उठानी है।

शाहजहांपुर: धरना प्रदर्शनों पर रोक लगी
शाहजहांपुर में कई मुस्लिम संगठनों द्वारा नागरिकता कानून के विरोध के ऐलान को देखते हुए मंगलवार को जिले में धारा 144 लगाई गई है। किसी भी तरह के धरना प्रदर्शन पर पूरी तरह से रोक लगा दी गई है। जिले को 22 सेक्टर, 6 जोन और 22 सेक्टर में बांटकर ऐहतियात बरती जा रही है। पुलिस और प्रशासनिक अफसर धर्मगुरुओं व प्रबुद्धजनों से संवाद कर रहे हैं। डीएम इंद्र विक्रम सिंह ने कहा- जरूरत पड़ने पर इंटरनेट सेवा भी हो बंद की जा सकती है।

सुल्तानपुर: प्रदर्शनकारियों से हुई झड़प
यहां नागरिकता कानून के विरोध में मंगलवार को प्रधान संघ अध्यक्ष जफर खान की अगुवाई में तमाम लोग सड़क पर उतर आए। सूचना पाकर पहुंची पुलिस ने रोकने की कोशिश की तो प्रदर्शनकारियों से झड़प भी हो गई। पुलिस ने बल प्रयोग कर प्रदर्शनकारियों को खदेड़ा।

अयोध्या: कांग्रेसी नेता नजरबंद, छात्रसंघ अध्यक्ष हिरासत में
दिल्ली में छात्रों पर लाठीचार्ज के विरोध में यूथ कांग्रेस के प्रदेश महासचिव शरद शुक्ला ने मंगलवार को शहर के गांधी पार्क में उपवास रखने का ऐलान किया था। पुलिस ने शरद शुक्ला को उनके आवास में नजरबंद कर दिया है। साकेत महाविद्यालय के अध्यक्ष आभास कृष्ण यादव को पुलिस ने हिरासत में लिया है। आभास कृष्ण सैकड़ों छात्रों के साथ बिना अनुमति लिए प्रदर्शन कर रहे थे। जिला प्रशासन ने सोशल मीडिया पर अफवाह फैलाने वालों को कड़ी कार्रवाई करने की चेतावनी दी है। कहा- उपद्रव करने पर एनएसए लगाया जा सकता है।

Leave a Reply