Now Reading
सीएम योगी का ऐलान; फॉरेंसिक यूनिवर्सिटी खुलेगी

सीएम योगी का ऐलान; फॉरेंसिक यूनिवर्सिटी खुलेगी

लखनऊ. गोमती नगर स्थित पुलिस मुख्यालय में शुक्रवार को आयोजित साइबर क्राइम और महिला-बाल अपराध विवेचना कार्यशाला में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा- सरकार राज्य में 218 फास्ट ट्रैक कोर्ट स्थापित करने जा रही है। साइबर अपराध को लेकर हर रेंज स्तर पर एक-एक साइबर थाना और फॉरेंसिक सेंटर खोलेंगे। सरकार का अपना फॉरेंसिक विश्विविद्यालय भी स्थापित किया जाएगा।

मुख्यमंत्री ने कहा- 2 साल पहले मैंने यह पता लगाने के लिए एक समिति बनाई थी कि क्या महिलाओं और बच्चों के साथ होने वाले अपराधों की भी समयबद्ध जांच हो रही है? जांच में सामने आया कि, समन्वय की कमी है। अगर अभियोजन समय पर किया जाता है तो आरोपी को जल्द ही सजा हो सकती है। दोषी अपराधियों को सजा दिलवाने में विवेचना-अभियोजन के बीच तालमेल बेहतर होना चाहिए। अपराध बढ़ने पर कानून को भी सख्त होना होगा।

सीएम ने कहा- अंतर विभागीय समन्वय से दोषियों के खिलाफ बेहतर कार्रवाई हो सकती है। जिला जज के साथ डिस्ट्रिक्ट मैजिस्ट्रेट बैठकर पॉस्को के मामले की वरीयता तय करें। इससे एक अपराधी को समय से दंड दिलवा सकते हैं। मुकदमों में देरी होने पर गवाह के मुकरने से लेकर पीड़ित तक निराश हो जाता है। तत्काल सजा होने पर बड़े पैमाने पर एक सकारात्मक संदेश जाता है। अपराधी के मन में भय होना जरूरी है, वरना वह कानून का सम्मान नहीं करेगा। विवेचना को सही और समय के साथ आगे ले जाना चाहिए। कोई बेगुनाह न फंसे, लेकिन कोई अपराधी भी न बच पाए।

सीएम ने कहा- पिछले 2 वर्ष में अपराध रोकने पर काम हुआ है। महिला-बालिकाओं के खिलाफ अपराध रोकने के लिए काम किया गया। 6 माह में दंड दिलाने के मामले में यूपी पहले नम्बर पर आया। निश्चित ही ऐसे कार्यक्रम साइबर क्राइम, बालकों-बालिकाओं के खिलाफ बढ़ रहे अपराधों पर रोक लगाने में सहायक होंगे।

View Comments (0)

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Scroll To Top