Now Reading
‘अमित शाह कुछ महीने हमारे यहां रहें तो यहां के हालात जान जाएंगे’

‘अमित शाह कुछ महीने हमारे यहां रहें तो यहां के हालात जान जाएंगे’

राज्यसभा में बुधवार को नागरिकता संशोधन बिल (Citizenship Amendment Bill) पास हो गया है। इसके साथ ही पाकिस्तान, बांग्लादेश और अफगानिस्तान से आकर भारत में बसे गैरमुस्लिम लोगों को देश की नागरिकता मिलने का रास्ता साफ हो गया है। इस बिल को लेकर देशभर में हंगामा जारी है, इसी बीच बांग्लादेश की ओर से भी बयान सामने आया है। बांग्लादेश के विदेश मंत्री डॉ. एके अब्दुल मोमेन ने कहा कि ‘बहुत कम ऐसे देश हैं जहां पर साम्प्रदायिक सौहार्द अच्छा है। अगर वह (अमित शाह) बांग्लादेश में कुछ महीने रहें तो उन्हें हमारे देश के साम्प्रदायिक सौहार्द की जानकारी लग जाएगी।’मोमेन ने आगे कहा कि ‘भारत के भीतर कई समस्याएं हैं। उन्हें उससे मुकाबला करने दीजिए। यह हमारे लिए चिंता का विषय नहीं है। एक दोस्त देश होने के नाते हम उम्मीद करते हैं कि भारत कोई ऐसा काम नहीं करेगा जिससे हमारे दोस्ताना संबंधों पर इसका प्रभाव पड़ेगा।’भारत के नागरिकता संशोधन बिल के खिलाफ पाकिस्तान भी आपत्ति जता चुका है। पाक पीएम इमरान खान ने कहा था कि भारत द्वारा लाया जा रहा यह बिल अंतर्राष्ट्रीय मानव अधिकार कानून और भारत-पाक के बीच हुए द्विपक्षीय समझौतों का उल्लंघन करता है। पाक पीएम ने इस बिल को आरएसएस के हिंदू राष्ट्र के विचार का हिस्सा बताया था।

View Comments (0)

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Scroll To Top