Home / ब्रेकिंग न्यूज़ / थानेदार की बेटी से चेक देने के बहाने ढाबे पर बुलाकर ज्यादती

थानेदार की बेटी से चेक देने के बहाने ढाबे पर बुलाकर ज्यादती

भोपाल। बागसेवनिया इलाके में थानेदार की बेटी से ज्यादती का मामला सामने आया है। लॉ के छात्र ने भाई और चार साथियों के साथ मिलकर उससे चार लाख रुपए हड़प लिए थे। जब पीड़िता ने रुपए वापस मांगे तो चेक देने के बहाने ढाबे पर बुलाकर दुष्कर्म किया। वारदात के बाद उसने छात्रा को जान से मारने की धमकी भी दी। पुलिस में शिकायत के एक हफ्ते तक कोई कार्रवाई नहीं की। क्राइम ब्रांच ने जब मुख्य आरोपित को चोरी की शंका पर हिरासत में लिया, तब बागसेवनिया पुलिस सक्रिय हुई और एफआईआर दर्ज की।

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

बागसेवनिया पुलिस के अनुसार अमराई में रहने वाली 25 वर्षीय युवती एक निजी कॉलेज में पीजी की छात्रा है। वह अरविंद विहार स्थित एक मिशनरी स्कूल की छात्रा रही है। उसके साथ बागसेवनिया निवासी नितिन पिता दयाराम सूर्यवंशी, साकेत नगर निवासी प्रशांत पिता प्रमोद दाहिया, प्रतीक पिता प्रमोद दाहिया (दोनों सगे भाई), गुलाबी नगर बागसेवनिया निवासी सौरभ रघुवंशी पिता खिलान रघुवंशी ये सभी पीड़िता के साथ पढ़ते थे। स्कूल की दोस्ती की वजह से छात्रा की प्रशांत और उसके भाई से फोन पर बातचीत होती रहती थी। प्रतीक उससे ज्यादा बात करता था। धीरे-धीरे दोनों अच्छे दोस्त बन गए थे। इसी दौरान छात्रा के कु छ आपत्तिजनक फोटो प्रतीक ने मोबाइल से खींच लिए थे, जिन्हें दिखाकर वह ब्लेकमेल करने लगा था। इसका फायदा उठाकर उसने जनवरी 2018 में छात्रा से 40 हजार रुपए ले लिए थे।

 

 

 

 

 

 

 

 

 

आरोपित प्रतीक और प्रशांत सगे भाई हैं। दोनों नेशनल लॉ यूनिवर्सिटी के छात्र हैं। प्रशांत ने मार्च 2018 में एक बार फिर छात्रा को फोन कर प्रतीक की बीमारी का झांसा देकर रुपए मांगे। रुपए नहीं होने के कारण छात्रा ने प्रतीक के दोस्त बागसेवनिया निवासी पृथ्वी शर्मा पिता अशोक शर्मा, नितिन सूर्यवंशी और सौरभ रघुवंशी को मां के गहने दे दिए। इसके बाद दोबारा इन लोगों ने छात्रा को धमकाया और उससे दो सोने की चेन भी ले गए। इनको आरोपित ने एक गोल्ड फाइनेंस कंपनी में गिरवी रख दिया था।

 

 

 

 

 

 

Check Also

बस और मोटरसाइकिल के बीच भिड़ंत : तीन बच्चों व महिला सहित 6 लोगों की मौत

जयपुर। राजस्थान में मंगलवार रात दुर्घटनाओं में दस लोगों की मौत हो गई। हनुमानगढ़ में …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.