Home / ब्रेकिंग न्यूज़ / भगवान को दुग्धाभिषेक के साथ शुरू हुए पुरुषोत्तम मास के आयोजन

भगवान को दुग्धाभिषेक के साथ शुरू हुए पुरुषोत्तम मास के आयोजन

दूध आभिषेक के साथ  पुरषोतम मॉस पर्व धूमधाम और विधि विधान के साथ शुरू
श्री लक्ष्मी नारायण मंदिर में श्री मद भागवत सप्ताह एवं महायज्ञ होगा आयोजन
 ग्वालियर। हर बार की भाती इस बार भी जनकगंज स्थितः श्री लक्ष्मी नारायण मंदिर में पुरषोतम मॉस पर्व धूमधाम और विधि विधान के साथ आज से  प्रारंभ हुआ  जिसने आज सुबह  बाबा महाराज के सानिध में बिधि विधान और मंत्र उपचारां के साथ  भगबान का एक मन दूध से अभिषेक किआ गया उसके बाद पट बंद कर भागबान का श्रंघार किआ गया तदोपरान्त बाबा महाराज के द्वारा मंदिर पुरषोत्तम मास ओर   भगवत गीता के  प्रबचन का महत्व के बारे में भक्तो को बताया गया
  गौरतलव है की  इस मंदिर द्वारा पिछले अड़तीस सालो से ये आयोजन किआ जा रहा है। पुरशोतम मॉस तीन साल में एक बार पड़ती है। पुरूषोतम मॉस की जानकारी मंदिर के पुरी जारी श्री संजय लभाटे ने बताया है की सोलह मई से मास शुरू होगा और तेरह जून को संम्पन होगा।
श्री लभाटे बताया है सोलह मई से प्रतिदिन बाबा महाराज के दवरा प्रतिदिन  भगवान का अभिषेक होगा जो की दस दिनों तक चलेगा जिसमे प्रतिदिन एक मन दूध, दही, घी, केरी का पना, शहद, आम का रस, गन्ने का रस से अभिषेक किया जायेगा। ये आयोजन सुबह साढ़े सात बजे से नो बजे तक होगा। जिसमे आचार्य द्वारा त्रग्वेदमहादेव का पवमान शुक्ल पाठ का वाचन किया जायेगा। ये आयोजन  १६.०५. २०१८. से २५. ०५. २०१८. तक चलेगा। साथ ही २६. ०५. २०१८  से ०१ ०६. २०१८  तक श्री मद भागवत सप्ताह का आयोजन मंदिर परिसर में किया जाएगा। इस कथा का रसपान शास्त्री रामभरत् दीक्षित जी द्वारा किया जायेगा। प्रतिदिन कथा दोपहर दो बजे से साय काल सात बजे तक होगी
  इसी कड़ी में भगवान् पुरशोतम श्री का एक अभिषेक दो मई से पांच मई तक प्रत्या साढ़े साथ बजे से शुरू होकर नो बजे तक करेगे। जिसमे सात आचार्यो द्वारा पाठ किया जायेगा। लक्ष्मीनाराण मंदिर में महायज्ञ का आयोजन भी प्रतिदिन सुबह १० बजे से १२ बजे तक किया जायेगा। मंदिर के महंत बाबा महाराज ने बताया की यह यज्ञ इसलिए भी जरुरी है की पिछले कई सालो से ग्वालियर में वर्षा नहीं हो रही है आशा है की इस यज्ञ से अच्छी बारिश के योग बनेगा और ग्वालियर में पानी की कमी से निजात मिलेगी।
ये यज्ञ छह जून से शुरू हो कर बारह जून तक चलेगा जिसका प्रारंभ सुबह कलश यात्रा से होगा जिसमे लक्ष्मीनाराण की उत्सव मूर्ति को पालकी में बिठकार मंदिर प्रांगण से छत्री बाजार मंदिर में छह दिनों के लिए इस्थापित किया गए सातबे दिन सुबह पूर्णआहुति सुबह ११ बजे होगी। उसी दिन सायकॉल छह बजे से छत्री में विराज मन भगवान् श्री को वापस मंदिर लाया जायेगा जिनकी पालकी यात्रा छत्री प्रांगण से शुरू हो कर नई सड़क दौलत गंज महराज बाड़े होते हुए मंदिर पहुंचेगी जहाॅ रास्ते भर यात्रा का स्वागत भक्तो द्वारा किया जायेगा।

Check Also

मध्यांचल ग्रामीण बैंक को चोरों ने निशाना बनाया :कम्प्युटर, बैट्री, कैमरा नगदी सहित 60हजार रूपये की चोरी

शिवपुरी-थाना कोतवाली क्षेत्र में टोंगरा रोड़ पर स्थित मध्यांचल ग्रामीण बैंक को बीती रात्रि अज्ञात …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.