Home / ब्रेकिंग न्यूज़ / नतीजा जो भी हो, हमेशा सच ही कहूंगा: नवाज,पाक आर्मी ने उच्च स्तरीय बैठक बुलाई

नतीजा जो भी हो, हमेशा सच ही कहूंगा: नवाज,पाक आर्मी ने उच्च स्तरीय बैठक बुलाई

इस्लामाबाद. नवाज शरीफ के मुंबई हमले पर दिए बयान के बाद पाकिस्तान में गहमागहमी का दौर जारी है। सोमवार को पाकिस्तान की नेशनल सिक्युरिटी कमेटी (एनएससी) ने नवाज के बयान को गलत और गुमराह करने वाला बताया। वहीं, नवाज की तरफ से कहा गया कि चाहे जो हो, मैं सच ही बोलूंगा। ये बयान नवाज के छोटे भाई और पीएमएल-एन के अध्यक्ष शाहबाज शरीफ ने दिया। 12 मई को नवाज ने पहली बार एक इंटरव्यू में कहा था, “क्या हमें आतंकियों को सीमा पार जाने देना चाहिए और मुंबई में 150 लोगों को मारने देना चाहिए?” इस बीच नवाज के बयान को लेकर पाक आर्मी ने सोमवार को उच्च स्तरीय बैठक बुलाई है। 26/11 के मुंबई हमले में 166 लोग मारे गए थे। 10 में से 9 आतंकियों को मार गिराया गया था। कसाब को जिंदा पकड़कर फांसी दे दी गई थी।

बयान को लेकर सारे कयास गलत

– शाहबाज शरीफ की तरफ से जारी बयान में कहा गया, “हम डॉन (पाक अखबार) में सीधी तरह या फिर घुमा-फिराकर कही गई न्यूज रिपोर्ट को खारिज करते हैं।”
– शाहबाज ने नवाज के हवाले से कहा, “नतीजा चाहे जो हो, वे सच ही बोलेंगे। पूर्व राष्ट्रपति परवेज मुशर्रफ, पूर्व आंतरिक मामलों के मंत्री रहमान मलिक और पूर्व राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार महमूद दुर्रानी नवाज के दिए बयान की पुष्टि कर चुके हैं।”
– “हमारे 50 हजार लोगों की कुर्बानी के बावजूद दुनिया हमारे मकसद पर ध्यान क्यों नहीं दे रही? जो शख्स ये सवाल पूछ रहा है, उसे ही देशद्रोही करार दिया जा रहा है।”

 

 

 

 

 

 

 

 

 

– शरीफ के प्रवक्ता ने कहा, “नवाज शरीफ के मुंबई हमलों पर दिए गए बयान को भारतीय मीडिया ने बढ़ा-चढ़ाकर पेश किया। ये भी दुर्भाग्यपूर्ण है कि पाकिस्तान के इलेक्ट्रॉनिक और सोशल मीडिया में इस बात को लेकर हंगामा मचा। मीडिया ने जो बातें सामने रखीं, उसमें किसी तरह की सच्चाई नहीं थी।”

 

 

 

 

 

– “पीएमएल-एन देश की एक प्रमुख राजनीतिक पार्टी है और नवाज शरीफ उसके बड़े नेता है। उन्हें अपनी प्रतिबद्धताओं और क्षमताओं के लिए किसी को कोई सर्टिफिकेट देने की जरूरत नहीं है। वो नवाज शरीफ ही थे, जिन्होंने देश की राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए सबसे कठिन फैसला लिया। इसके बाद पाक ने मई, 1998 में परमाणु परीक्षण किया।”

 

 

 

 

 

 

 

– नवाज के बयान पर पाक की सिविल-मिलिट्री बॉडी ने सोमवार को एक उच्च स्तरीय बैठक बुलाई। करीब आधे घंटे चली मीटिंग में नवाज के बयान को गुमराह करने वाला बताया गया।
– मीटिंग में पाक के प्रधानमंत्री शाहिद खाकान अब्बासी, रक्षा और विदेश मंत्री खुर्रम दस्तगीर, विदेश सचिव तहमीन जंजुआ और राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार नसीर खान जंजुआ समेत कई अफसर शामिल हुए।

Check Also

आधुनिक भारत के जनक थे राजीव गांधी 

ग्वालियर। भारत को आधुनिकता की पटरी पर लाने के लिए राजीव जी ने जिस सोच …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.