Home / ब्रेकिंग न्यूज़ / शिवराज बोले – हमने गरीबो की भलाई के लिए नया इतिहास रचा

शिवराज बोले – हमने गरीबो की भलाई के लिए नया इतिहास रचा

राज्य सरकार ने प्रदेष में गरीबो की भलाई के लिए नया इतिहास रचा है
– मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान
गरीबों के लिए सर्वाधिक योजनाएं संचालित करने वाला मध्यप्रदेष राज्य
25 करोड की लागत से मुंगावली मिनी स्मार्ट सिटी बनेगी

ग्वालियर 26 अप्रैल 2018/ मुख्यमंत्री श्री षिवराज सिंह चौहान ने कहा कि उनका मकसद प्रदेष के गरीबों की जिदगीं में बदलाव लाना है। इसी दिषा में राज्य सरकार प्रदेष में गरीबो की भलाई के लिए नया इतिहास रचा है। इनके कल्याण एवं उत्थान के लिए सर्वाधिक योजनाएं संचालित करने वाला मध्यप्रदेष देष का नही बल्कि दुनिया का मात्र एक राज्य है। मुख्यमंत्री श्री षिवराज सिंह चौहान आज अषोकनगर जिले के मुंगावली में आयोजित तेदूपत्ता संग्राहक एवं असंगठित श्रमिकों के सम्मेलन को मुख्य अतिथि के रूप में संबोधित कर रहे थे।

 

 

 

 

 

 

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने इस मौके पर 100 करोड की लागत के निर्माण एवं विकास कार्यो का भूमिपूजन एवं लोकार्पण किया। उन्होंने इस मौके पर 25 करोड की लागत से बनने वाली मुंगावली मिनी स्मार्ट सिटी का भूमिपूजन भी किया। उन्होनें तेंदूपत्ता संगा्रहकों को बोनस के रूप में सवा करोड की राषि आर.टी.जी.एस के माध्यम से संग्राहकों के खातें में सीधी राषि जमा कराई। इस दौरान उन्होंने तेंदूपत्ता संग्र्राहकों को चरण पादुका के रूप में जूते, चप्पल, पानी की बोतल और महिलाओं को साडी प्रदाय की।

 

 

 

 

 

 

कार्यक्रम में मध्यप्रदेष लघु वनोपज संघ के अध्यक्ष श्री महेष कुमार कोरी, असंगठित कर्मकार मण्डल के अध्यक्ष श्री सुल्तान सिंह शेखावत, जिला पंचायत अध्यक्ष श्रीमति बाईसाहब यादव, अषोकनगर विधानसभा क्षेत्र के विधायक श्री गोपीलाल जाटव, भाजपा जिलाध्यक्ष श्री जयकुमार सिंघई, पूर्व विधायक श्री राजकुमार यादव, संभाग आयुक्त ग्वालियर श्री बी.एम.शर्मा, आई.जी. ग्वालियर श्री अंषुमन सिंह यादव, कलेक्टर श्री बी.एस.जामोद, पुलिस अधीक्षक श्री तिलक सिंह, मुख्य वन सरक्षक श्रीमति कमोलिका मोहनतां, जिला वनमण्डाधिकारी श्री संजय कुमार चौहान एवं बडी संख्या में तेंदूपत्ता संग्राहक , असंगठित श्रमिक एंव जनसमुदाय उपस्थित थे।

 

 

 

 

 

 

मुख्यमंत्री श्री चौहान में कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि आज मुंगावली को स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट का जो षिलान्यास किया गया है। इसके टेन्डर शीघ्र होकर कार्य शुरू होगा। उन्होंने कहा कि मुंगावली में उनके द्वारा पूर्व में की गई घोषणाओं का जिक्र करते हुए कहा कि घोषणाओं को स्वीकृत किया जा चुका है, जिन पर कार्य भी शुरू हो गया है। मुख्यमंत्री ने कहा कि उनका मकसद प्रदेष में रहने वाले सभी गरीबों की जिदगी को बदलना है। इस दिषा में प्रदेष में गरीबों के कल्याण एवं भलाई के लिए संचालित योजनाओं में प्रदेष ने नया इतिहास रचा है। गरीबों के कल्याण के लिए सर्वाधिक योजनाएं संचालित करने वाला मध्यप्रदेष देष का ही नही बल्कि दुनिया का एक मात्र राज्य है।

 

 

 

 

 

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि उनकी सरकार सभी वर्गो के कल्याण के लिए कार्य कर रही है। लेकिन दीन-दुखियों, गरीब मजदूर, किसानों के लिए सरकार पहले है। उन्होंने पत्रकार गणेष शंकर विद्यार्थी का उल्लेख करते हुए कहा कि मुंगावली से उनका संबंध रहा। उन्होंने कहा कि मजदूरों के कल्याण असंगठित मजदूरों, तेंदूपत्ता तोडने, महुआ फूल संग्राहण करने वाले मजदूरो को जूते चप्पल, साडी, ठण्डा पानी पीने के लिए पानी की बोतल प्रदाय की गई है। उन्होंने कहा कि प्रदेष में सभी मजदूरों को जमीन के पट्टे दिये जायेगें। मध्यप्रदेष की भूमि पर रहने वाला कोई भी गरीब मजदूर बिना जमीन के वंचित नही रहेगा। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत वर्ष 2022 तक सभी आवासहीन परिवारो को आवास उपलब्ध कराये जायेगें। इस योजना के तहत जिले में 18 हजार से अधिक आवासहीन हितग्राहियों के आवास स्वीकृत किये गये है।

 

 

 

 

 

 

सभी वर्गो के गरीब छात्र-छात्राओं को उच्च शिक्षा में लगने वाली
फीस राज्य सरकार भरेगी
मुख्यमंत्री ने कहा कि सभी वर्गो के गरीब छात्र-छात्राओं को उच्च षिक्षा जैसे इंजीनियरिगं, मेडीकल, आई.आई.टी. आदि पाठ्यक्रमों में लगने वाली फीस की राषि राज्य सरकार भरेगी। प्रदेष में सभी गरीबों का इलाज निःषुल्क कराया जायेगा। आयुष्मान योजना, मुख्यमंत्री राज्य बीमारी सहायता योजना में लोगों का उपचार कराया जायेगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि श्रमिक परिवार की ऐसी गर्भवती माताओं को छैः माह से नौ माह तक 04 हजार रूपये एवं प्रसव उपरांत पोष्टिक आहार हेतु 12 हजार रूपये की राषि महिला की खातें में जमा कराई जायेगी। प्रदेष में इस वर्ष लगभग 17 करोड की राषि महिलाओं के खातों में जमा कराई जायेगी।

 

 

 

 

 

 

 

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि शासन द्वारा घोषित समर्थन मूल्य पर गत वर्ष गेहू बेचने वाले किसानों को इस वर्ष कृषक समृद्धि योजना के तहत 200 रूपये प्रति क्विंटल के मान से उनके खातों में राषि सीधी जमा कराई जायेगी। प्रदेष में इस प्रकार 1700 करोड रूपये की राषि किसानों के खातों में जमा होगी। उन्होंने कहा कि शासन द्वारा घोषित समर्थन मूल्य पर इस वर्ष पंजीकृत किसानों द्वारा गेहू बेचने पर 265 रूपये की राषि बोनस के रूप में जबकि चना, सरसों, मसूर बेचने पर 100 रूपये प्रति क्विटंल के मान से जमा कराई जायेगी।
मुख्यमंत्री ने महिलाओं के स्व सहायता समूहों की सराहना
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने प्रदेष में आजीविका मिषन एवं महिला स्व सहायता समूहों की महिलाओं द्वारा संचालित गतिविधियों की सराहना करते हुए कहा कि होषंगाबाद जिले के कीरतपुर ग्राम की स्व सहायता समूहों से जुडी 12 हजार महिलाओं ने समिति के माध्यम से मुर्गी पालन का व्यवसाय शुरू किया। जिससे आज उनकी आय 240 करोड के आसपास पहुंच गई है। जिसमें से 20 करोड का उन्हें शुद्ध मुनाफा हुआ है। उन्होंने कहा कि महिला स्व सहायता समूहों के माध्यम से महिलाएं आत्म निर्भर बने इसके लिए प्रदेष में मुर्गी दाने का कारखाना, स्कूली बच्चों के लिए गणवेष बनाने का प्रषिक्षण देकर उनको बैंकों से लिंकिंग कर फेडरेषन खडा कर उन्हें सहायता दी जायेगी। इन व्यवसायों के लिए स्व सहायता समूहों की महिलाओं को शासन द्वारा तकनीकी सहायता दी जायेगी।
श्रमिकों को 200 रूपये फ्लेट रेट पर मिलेगी बिजली
उन्होंने बताया कि ऐसे मजदूर किसी आयु 60 वर्ष से कम है उसकी मृत्यु होने पर 02 लाख की राषि जबकि दुर्घटना से मृत्यु होने पर 04 लाख रूपये की राषि मजदूर के परिवार को दी जायेगी। मजदूरों के परिवारों से बिजली का बिल नही लिया जायेगा। बल्कि उन्हें 200 रूपये फलेट रेट पर बिजली प्रदाय की जायेगी। श्रमिक की मृत्यु होने पर उसकी अंतिम संस्कार पूरे सम्मान के साथ हो इसके लिए 05 हजार रूपये की सहायता राषि प्रदाय की जायेगी। यह योजना दुनिया के लिए मिषाल बनेगी। उन्होंनें जनसमुदाय से कहा कि बेटा – बेटी के बीच में किसी भी प्रकार का भेदभाव न करें। दोनों को बरावर समझें। बेटियों को पढायें एवं उन्हें आगे बढाएं। बेटी होगी तो सृष्टि चलेगी। बेटी के जन्म से लेकर इनकी शादी तक की जबावदारी राज्य सरकार ने ली है।

 

 

 

 

 

 

 

 

मुख्यमंत्री ने कहा कि बेटी एवं महिलाओं के साथ छेडखानी एवं दुराचार करने वाले दुराचारियों को फांसी की सजा देने का विधेयक पारित किया गया है। कार्यक्रम के शुरू में कन्या पूजन किया गया।
इन कार्यो का हुआ शिलान्यास एवं लोकार्पण
कार्यक्रम में मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान द्वारा नल जल योजना ग्राम पिपरई लागत 402.14 लाख,नलजल योजना ग्राम अर्रोन लागत 41.46 लाख, मुख्यमंत्री ग्रामीण नल जल योजना रामनगर लागत 94.20 लाख, गणेष मंदिर बहादुर के पास घाट निर्माण लागत 20.57 लाख, सब स्टेषन बरखाना लागत 258.49 लाख, मिनी स्मार्ट सिटी लागत 125 करोड का षिलान्यास किया गया। इसी प्रकार 10 मार्गो लागत 12 करोड 22 लाख 67 हजार रूपये के कार्यो का लोकार्पण किया गया। इसी प्रकार विभिन्न हितग्राहीमूलक योजना के अंतर्गत 66443 हितग्राहियों को 82 करोड 21 लाख 29 हजार रूपये की राषि के हितलाभ का वितरण किया गया।
कार्यक्रम के शुरू में कलेक्टर श्री बी.एस.जामोद ने आयोजन की रूपरेखा पर प्रकाष डालते हुए विस्तार से जानकारी दी।

Check Also

मध्यांचल ग्रामीण बैंक को चोरों ने निशाना बनाया :कम्प्युटर, बैट्री, कैमरा नगदी सहित 60हजार रूपये की चोरी

शिवपुरी-थाना कोतवाली क्षेत्र में टोंगरा रोड़ पर स्थित मध्यांचल ग्रामीण बैंक को बीती रात्रि अज्ञात …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.