Home / देश / सुप्रीम कोर्ट के दो जजों ने की फुल कोर्ट बुलाने की मांग

सुप्रीम कोर्ट के दो जजों ने की फुल कोर्ट बुलाने की मांग

नई दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट का मामला खत्म होने का नाम नहीं ले रहा है। दो दिन पहले सात विपक्षी दलों के सांसदों ने चीफ जस्टिस ऑफ इंडिया (CJI) दीपक मिश्रा के खिलाफ महाभियोग का नोटिस जारी किया था, जिसे राज्यसभा के सभापति ने खारिज कर दिया था।

 

 

 

 

 

 

 

 

अब जस्ट‍िस रंजन गोगोई और मदन लोकुर ने CJI को पत्र लिखकर सर्वोच्च अदालत के ‘भविष्य’ और ‘संस्थागत मसलों’ पर चर्चा करने के लिए ‘फुल कोर्ट’ बुलाने की मांग की है। इस लेटर पर CJI ने कोई जवाब नहीं दिया गया है।

 

 

 

 

 

जस्ट‍िस दीपक मिश्रा अक्टूबर में रिटायर हो रहे हैं और इसके बाद इस पद पर जस्ट‍िस गोगोई के ही आने की संभावना है। जस्ट‍िस गोगोई और लोकुर जजों को चुनने वाली कॉलेजियम के भी सदस्य हैं।

 

 

 

 

सुप्रीम कोर्ट के फुल कोर्ट में सभी जजों की एक बैठक बुलाई जाती है। आमतौर पर ऐसी बैठक को CJI तब आहूत करते हैं, जब न्यायपालिका से जुड़े महत्व के किसी विषय पर चर्चा करना जरूरी हो।

गौरतलब है कि इसके पहले कॉलेजियम के दो और वरिष्ठ सदस्यों ने लेटर लिखकर CJI से कहा था कि सरकार द्वारा न्यायपालिका में हस्तक्षेप को रोकने के लिए सभी जजों की मदद ली जाए।

सूत्रों के मुताबिक, सोमवार सुबह चाय के दौरान जब सुप्रीम कोर्ट के सभी जजों की बैठक हुई थी। उस समय कुछ जजों ने फुल कोर्ट मीटिंग का मुद्दा उठाया था। मगर, सीजेआई दीपक मिश्रा इसे लेकर सहमत नजर नहीं हुए थे।

Check Also

मप्र विधानसभा का सत्र 25 जून से शुरू होगा

भोपाल । मप्र विधानसभा का मानसून सत्र 25 जून से। 5 दिवसीय सत्र में 5 …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *