Home / देश / बैंकिंग सेवाओं के लिए शुल्क लगने की खबरों का आईबीए ने खंडन किया

बैंकिंग सेवाओं के लिए शुल्क लगने की खबरों का आईबीए ने खंडन किया

नई दिल्ली। 20 जनवरी से पैसा जमा करने और निकालने समेत सभी बैंकिंग सेवाओं के लिए शुल्क लगने की खबरों का इंडियन बैंक एसोसिएशन (आईबीए) ने खंडन किया है। बैंकों के संगठन आईबीए ने इस संबंध में चल रही खबरों को पूरी तरह आधारहीन और झूठा बताया।

 

 

 

 

 

 

 

 

 

आईबीए ने बताया कि बैंकों ने ना इस तरह का कोई फैसला किया है, ना ही ऐसा कोई प्रस्ताव है। हालांकि, आईबीए ने कहा कि परिचालन एवं वाणिज्यिक वायबिलिटी को देखते हुए बैंक लेनदेन से जुड़े विभिन्न शुल्कों की समीक्षा करते रहेंगे।

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

सोशल मीडिया में इसको लेकर चल रही अफवाहों का पूरी तरह से खंडन करते हुए आईबीए ने बताया कि इस तरह से कभी भी नि:शुल्क सेवाओं को पूरी तरह समाप्त नहीं किया जा सकता है। साथ ही यह अपेक्षित भी नहीं है। आईबीए ने स्पष्ट किया है कि बैंकों की ओर से लगातार व्यावसायिक एवं परिचालन लागत की समीक्षा की जाती है। इसी के आधार पर शुल्क बी तय किए जाते हैं।

आईबीए ने सोशल मीडिया पर चल रही खबरों को आधारहीन और गलत करार किया है। साथ ही यह भी कहा है कि भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) की ओर से मौजूदा समय में शुल्क के संबंध में कोई दिशा निर्देश जारी नहीं किए गए हैं।

Check Also

नही रहे विंध्य के सियासी शेर श्रीनिवास तिवारी,मप्र की पहली विधानसभा में बने थे सबसे कम उम्र के विधायक

रीवा । कॉंग्रेस के वरिष्ठ नेता व मध्यप्रदेश विधानसभा के पूर्व अध्यक्ष श्री निवास तिवारी …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *