Home / ब्रेकिंग न्यूज़ / अमेरिका ने पाक को दिया एक और बड़ा झटका :  कहा- अब सिर्फ नतीजे चाहिए

अमेरिका ने पाक को दिया एक और बड़ा झटका :  कहा- अब सिर्फ नतीजे चाहिए

पाकिस्तान को दी जाने वाली पूरी 7 हजार करोड़ की मिलिट्री मदद रोकी

वॉशिंगटन/नई दिल्ली.अमेरिका ने पाकिस्तान को लेकर बहुत कड़ा फैसला लिया है। अमेरिका ने पाकिस्तान को दी जाने वाली 1.15 बिलियन डॉलर (इंडियन करंसी के हिसाब से करीब 7.298 हजार करोड़ रुपए) की सिक्युरिटी मदद रोकने का एलान कर दिया है। इसकी पुष्टि, यूएस स्टेट डिपार्टमेंट ने भी कर दी है। बता दें कि इसी हफ्ते 255 मिलियन डॉलर (करीब 1626 करोड़ रुपए) की मदद रोकी गई थी। अमेरिका ने साफ कर दिया है कि वो अब पाकिस्तान की तरफ से सिर्फ आतंकवाद के खिलाफ उसकी कार्रवाई में नतीजे चाहता है।

 

 

 

 

 

स्टेट डिपार्टमेंट की स्पोक्सपर्सन हीदर न्यूर्ट ने कहा- हम पुष्टि करते हैं कि अमेरिका ने पाकिस्तान को दी जाने वाली तमाम सिक्युरिटी असिस्टेंस रोकने का फैसला किया है। पाकिस्तान की सरकार को अब हक्कानी नेटवर्क, तालिबान और दूसरे आतंकी संगठनों के खिलाफ ऐसी कार्रवाई करनी होगी जिसके नतीजे दिखें।
– हीदर ने कहा- हम जानते हैं कि पाकिस्तान उस इलाके में परेशानी पैदा कर रहा है और उसके इशारे पर अमेरिकियों को निशाना बनाया जा रहा है।

 

 

 

 

 

– हीदर ने आगे कहा- अब अमेरिका कोई भी मिलिट्री मदद पाकिस्तान को नहीं देगा। हम अपनी नई साउथ एशिया पॉलिसी को पूरी तरह फाॅलो करेंगे।
– पूरी मिलिट्री मदद रोके जाने के मायने बड़े हैं। पाकिस्तान के पास फिलहाल जो अमेरिका के मिलिट्री इक्युपमेंट्स हैं। उनके पार्ट्स या दूसरी जरूरी चीजें उसे नहीं मिलेंगी। यानी ये हथियार या दूसरे इक्युपमेंट्स अगर खराब हैं या इनके लिए मेंटेनेंस जरूरी है, तो वो पाकिस्तान को नहीं मिल पाएगा।
– इसके अलावा 7 हजार करोड़ से ज्यादा का जो फंड पाकिस्तान को मिलना था, वो भी अब उसे नहीं मिलेगा। 1626 करोड़ रुपए की मिलिट्री एड पर रोक तो पहले ही लगाई जा चुकी है। 2017 के लिए पाकिस्तान को कोएलिशन सपोर्ट फंड के तहत 900 मिलियन डॉलर मिलने थे। ये भी नहीं मिलेंगे।

 

Check Also

घायलों से मुलाकात के बाद बोले कैप्टन- रेलवे से अलग करेंगे जांच

अमृतसर। अमृतसर में जोड़ा फाटक के पास शुक्रवार को दशहरे पर हुए ट्रेन हादसे में …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.