Home / राज्य / उत्तर प्रदेश / जलालपुरी का निधन, गीता का उर्दू में किया था अनुवाद

जलालपुरी का निधन, गीता का उर्दू में किया था अनुवाद

लखनऊ. उर्दू शायर अनवर जलालपुरी का कार्डियक अरेस्ट (दिल का दौरा) पड़ने के कारण मंगलवार सुबह करीब 10 बजे केजीएमयू (किंग जार्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी) में निधन हो गया। उन्हें गुरुवार को ब्रेन स्ट्रोक पड़ने के बाद एक केजीएमयू के ट्रामा सेंटर के न्यूरो सर्जरी डिपार्टमेंट में एडमिट कराया गया था। उनकी हालत पहले दिन से ही नाजुक बनी हुई थी। यहां उन्हें वेंटीलेटर पर रखा गया था।

 

 

 

 

 

हुसैनगंज निवासी उर्दू शायर अनवर जलालपुरी (71) गुरुवार शाम अपने करीबी परिजन के शोक कार्यक्रम से लौटे थे। छोटे बेटे डॉ जानिसार जलालपुरी के मुताबिक़, शाम करीब 6 बजे बाथरूम गये। लेकिन आधे-पौने घंटे तक बाहर नहीं निकले तो उन्हें आवाज लगाई।
– आवाज नहीं आने पर दरवाजा तोड़कर बाहर देखा तो वह फर्श पर पड़े हुये थे और उनके सिर से खून बह रहा था। आनन-फानन में उन्हें प्राइवेट हॉस्पिटल ले जाया गया, जहां उनके दिमाग में अंदरूनी चोटों के चलते सीटी स्कैन आदि के लिये दूसरे निजी अस्पताल ले जाया गया।

 

 

 

 

 

-जहां डाक्टरों ने ब्रेन में खून के थक्के, और ब्लीडिंग होने के बाद केजीएमयू रेफर कर दिया। केजीएमयू के ट्रामा सेंटर के न्यूरो सर्जरी विभाग में उन्हें एडमिट कराया गया था। उनकी तबियत में सुधार नहीं हो रहा था।
-केजीएमयू के सीएमएस डॉ. एसएन शंखवार लगातार उनके इलाज पर नजर बनाये गये थे। उन्होंने डाक्टरों को हर संभव इलाज करने का निर्देश दिया था।

डिप्टी सीएम ऑफिस से ली गई पल-पल की जानकारी

-केजीएमयू के डाक्टरों ने बताया- “अनवर जलालपुरी की हालात पहले दिन से ही नाजुक बनी हुई थी। न्यूरोसर्जरी के डॉक्टर उनका इलाज पर नजर बनाये हुए थे। उन्हें इस वेंटीलेटर पर रखा गया था। डिप्टी सीएम दिनेश शर्मा के ऑफिस से गुरूवार से ही फोन पर अनवर जलालपुरी के तबियत की पल पल की अपडेट ली जा रही थी।”

Check Also

घायलों से मुलाकात के बाद बोले कैप्टन- रेलवे से अलग करेंगे जांच

अमृतसर। अमृतसर में जोड़ा फाटक के पास शुक्रवार को दशहरे पर हुए ट्रेन हादसे में …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.