Home / राज्य / उत्तर प्रदेश / संगम तट पर श्रद्धालुओं की उमड़ी भीड़

संगम तट पर श्रद्धालुओं की उमड़ी भीड़

इलाहाबाद.माघ मेले की शुरुआत मंगलवार को पौष पूर्णिमा के पहले स्नान के साथ हुई। 14 से 15 डिग्री सेल्सियस की कड़ाके की ठंड में भी श्रद्धालुओं का संगम तट पर स्नान शुरू हो गया है। प्रशासन द्वारा इस बार मेले की सुरक्षा व्यवस्था के लिए 12 थाने, 34 पुलिस चौकी, 4 हजार पुलिस, खुफिया एजेंसियां, आरएएफ, बीडीएस, डॉग स्क्वॉड, 12 फायर स्टेशन की टीम लगीं है। संगम तट पर श्रद्धालुओं ने देर रात से ही डुबकी लगाना शुरु कर दिया था। ठंड के बाद भी देशभर के श्रद्धालु स्नान करने के लिए सगंम तट पर पहुंच रहे हैं। इसके साथ ही आज से एक महीने का कल्पवास भी शुरू हो गया है।

 

 

 

 

ऐसी मान्यता है कि कल्पवास करने के लिए 33 करोड़ देवी-देवता भी आते हैं और कल्पवास करने वालों किसी न किसी रूप में दर्कोशन देते हैं।

-महानिर्वाणी अखाड़े के महंत स्वामी नित्यानन्द गिरी के मुताबिक, कल्पवास करने वाले मानव को जीते जी मोक्ष की प्राप्ति होती है। ऐसे व्यक्ति को फिर किसी तीर्थ जाने की जरूरत नहीं होती।

-डीएम सुहास एलवाई ने बताया- 11 बजे तक संगम समेत 16 घाटों में करीब 8 से 10 लाख लोगों ने स्नान किया है।

 

 

 

 

– ज्योतिषाचार्य राम नरेश त्रिपाठी के मुताबिक, ”पौष पूर्णिमा 1 जनवरी सोमवार को दिन में 11:04 मिनट पर लग गई, जो कि 2 जनवरी की सुबह 8:43 बजे तक रही।”

– ”कल्पवासी सिर्फ एक समय भोजन और दिन में तीन बार स्नान करते हैं। दान का क्रम भी चलता है। ऐसा इसलिए क्योंकि प्रयाग में दान का काफी महत्व है।”

– भारतीय विद्या भवन ज्योतिष संकाय के प्राचार्य ज्योतिषाचार्य पंडित त्रिवेणी प्रसाद त्रिपाठी के मुताबिक, ”पौष पूर्णिमा व अन्य स्नान पर्वो के बाद यथासंभव दान करना चाहिए। इसमें अन्न, काला तिल, ऊन, वस्त्र व बर्तन का दान काफी पुण्यकारी रहता है।”

Check Also

स्कूल बस हादसे में मरने वाले बच्चों की संख्या 18 हुई, सीएम योगी पहुंचे

कुशीनगर। उत्तर प्रदेश के कुशीनगर में गुरुवार सुबह हुए स्कूल बस हादसे में मरने वाले बच्चों …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *