Home / ब्रेकिंग न्यूज़ / पद्मावती मामला : नाक काटने की धमकी के बाद दीपिका को मिली पुलिस सुरक्षा

पद्मावती मामला : नाक काटने की धमकी के बाद दीपिका को मिली पुलिस सुरक्षा

मुंबई/कोटा. फिल्म पद्मावती पर हो रहे विवाद के बीच मिली नाक काटने की धमकी के बाद मुंबई पुलिस ने एक्ट्रेस दीपिका पादुकोणको सिक्युरिटी दी है। धमकी श्री राजूपत करणी सेना (एसआरकेएस) ने दी है। उसने एक्ट्रेस को बयानबाजी न करने की चेतावनी दी है। दीपिका ने कुछ दिन पहले कहा था कि पद्मावती रिलीज होकर रहेगी।
बता दें कि संजय लीला भंसाली के डायरेक्शन में बनी इस फिल्म में ऐतिहासिक तथ्यों से छेड़छाड़ के आरोप लग रहे हैं। इसके विरोध की आग छह राज्यों तक फैल गई है।
– ज्वाइंट पुलिस कमिश्नर (लॉ एंड ऑर्डर) देवेन भारती ने बताया कि ऑर्गनाइजेशन की ओर से नाक काटने की धमकी दिए जाने के बाद मुंबई पुलिस ने दीपिका पादुकोण की सिक्युरिटी बढ़ा दी है। – उन्होंने कहा कि दीपिका के मुंबई स्थित घर और ऑफिस पर भी पुलिस तैनात की गई है।  – बता दें कि इससे पहले संजय लीला भंसाली और सेंसर बोर्ड को भी पुलिस प्रोटेक्शन दिया जा चुका है।
 पद्मावती के वंशज बोले – ‘रानी की कहानी मजाक नहीं’,-   
   संजय लीला भंसाली की फिल्म को लेकर विवाद के बीच अब रानी पद्मावती और रावल रतन सिंह के वंशज सामने आए हैं। घूमर के गलत प्रोजेक्शन, खिलजी को हीरो बताने और रानी पद्मावती से जुड़े तथ्यों को तोड़-मरोड़कर पेश करने के आरोपों के अलावा मेवाड़ के पूर्व राजघराने के मेंबर्स ने फिल्म के विरोध की अपनी वजहें बताई हैं।
उन्होंने यह भी कहा है कि वे बयानबाजी और तोड़फोड़ में यकीन नहीं रखते, बल्कि बातचीत से मसला सुलझाना चाहते हैं। बता दें कि पद्मावती मेवाड़ की महारानी थीं। मेवाड़ की राजधानी चित्तौड़ में खिलजी के हमले के वक्त उन्होंने 1303 में जौहर किया था। मेवाड़ राजघराने के वंशज बताया, “इस मसले को बैठकर सुलझाया जाए।
इस प्रकार के रोष और आक्रामक रुख को अपनाने से कुछ नहीं होता। आक्रामकता से सभी पक्षों को नुकसान है। इसमें किसी की जीत है, किसी की हार है। ऐसा कोई जरिया ढूंढा जाए कि जिससे बातचीत से इस मसले को सुलझाया जा सके। यह कोई मजाक नहीं। यह चित्तौड़ और राजस्थान ही नहीं, पूरे देश की महिलाओं की अस्मिता का सवाल है।”

Check Also

बस और मोटरसाइकिल के बीच भिड़ंत : तीन बच्चों व महिला सहित 6 लोगों की मौत

जयपुर। राजस्थान में मंगलवार रात दुर्घटनाओं में दस लोगों की मौत हो गई। हनुमानगढ़ में …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.