Home / ब्रेकिंग न्यूज़ / पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने कहा -‘नोटबंदी एक गैर-जरूरी रोमांच था’

पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने कहा -‘नोटबंदी एक गैर-जरूरी रोमांच था’

मोहाली। पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने शुक्रवार (22 सितंबर) को कहा कि ‘नोटबंदी एक गैर-जरूरी रोमांच’ था। सिंह ने कहा कि ऐसे कदम को कुछ लैटिन अमेरिकी और अफ्रीकन देशों को छोड़कर दुनिया में कहीं भी सफलता नहीं मिली। पूर्व प्रधानमंत्री ने हाल ही में कहा था कि ‘जीएसटी और नोटबंदी का जल्‍दबाजी में क्रियान्‍वन आर्थ‍िक प्रगति पर नकरात्‍मक असर जरूर डालेगा।’

 

 

 

 

मोहाली में छात्रों को संबोधित करते हुए मनमोहन सिंह ने कहा, ”मुझे नहीं लगता कि आर्थिक और तकनीकी तौर पर इस रोमांच की जरूरत थी। अगर सिस्‍टम दे 86 फीसदी करेंसी निकाल ली जाती है तो गिरावट तो होगी ही।” सिंह ने यह भी दोहराया कि अर्थव्‍यवस्‍था की रफ्तार नोटबंदी की वजह से धीमी हुई और इसमें जीएसटी को लागू करने में आ रही दिक्‍कतों का भी योगदान हैं। चालू वित्त वर्ष की जून में खत्म हुई तिमाही के दौरान देश के सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) की वृद्धि दर में गिरावट दर्ज की गई और यह वित्त वर्ष 2016-17 की चौथी तिमाही के 6.1 फीसदी से घटकर 5.7 फीसदी पर आ गई। पिछले साल इसी तिमाही में जीडीपी वृद्धि दर 7.9 फीसदी थी। सिंह ने पिछले साल संसद में कहा था कि जीडीपी में दो प्रतिशत की गिरावट होगी। उन्‍होंने कहा था कि नोटबंदी एक ‘ऐतिहासिक आपदा, संगठित और कानूनी लूट’ है।

Check Also

नही रहे विंध्य के सियासी शेर श्रीनिवास तिवारी,मप्र की पहली विधानसभा में बने थे सबसे कम उम्र के विधायक

रीवा । कॉंग्रेस के वरिष्ठ नेता व मध्यप्रदेश विधानसभा के पूर्व अध्यक्ष श्री निवास तिवारी …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *