Home / देश / लालू की रैली में उमडा भारी जन सैलाब
i

लालू की रैली में उमडा भारी जन सैलाब

पटना । राजद की भाजपा भगाओ देश बचाओ रैली में विपक्ष की बड़ी जुटान दिख रही है। रैली के मंच पर राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव व जदयू के बागी नेता शरद यादव गले मिले। नेताओं के निशाने पर केंद्र की पीएम मोदी सरकार तथा सीएम नीतीश कुमार हैं।  पार्टी के निर्देशों की अवहेलना कर रैली में शामिल शरद यादव के गुट को असली जदयू करार दिया गया। उधर, पार्टी की अंतिम चेतावनी की अवहेलना करने के जदयू अब शरद के खिलाफ कार्रवाई को स्‍वतंत्र हो गई है। रैली में तमाम नेता भाजपा और जदयू पर प्रहार कर रहे हैं, लेकिन किसी ने ये नहीं कहा कि आखिर वे देश को कैसे सुधारेंगे।  दूसरी ओर भाजपा ने जहां रैली की टाइमिंग को लेकर सवाल उठाए हैं, वहीं जदयू ने इसे घोटालेबाजों की रैली करार दिया है। भाजपा का कहना है कि बाढ़ से बुरी तरह प्रभावित बिहार में इस समय रैली की राजनीति करना जनता के साथ मजाक है।
राजद अध्‍यक्ष लालू प्रसाद यादव ने भाजपा हटाओ देश बचाओ रैली में आये हुए तमाम कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा कि नीतीश कुमार ने आपलोगों की पीठ पर लात मारा है। यह रैली 3 महीने पहले राजगीर में देश के वर्तमान हालात को देखते हुए तय की गई थी। उस समय गठबंधन था, जिसमें यह निर्णय हुआ कि 27 अगस्‍त को रैली का आयोजन किया जाये। रविवार होने के कारण स्‍कूलों और कॉलेजों की छुट्टी रहेगी। किसी को परेशानी का सामना नहीं करना पड़ेगा।  लोगों को आज मालूम हो गया है कि आपकी शक्ति अपार है। फासिस्‍ट और कम्‍यूनल ताकत को दिल्‍ली की गद्दी से हटाना है। जब महागठबंधन किया था तो जानते थे कि नीतीश कुमार आदमी ठीक नहीं है। नीतीश गंजी और पायजामा पहनकर कर शरद जी के यहां घुमता था, आज यह आदमी कहता है कि लालू यादव को हमने बनाया। ये इंजीनियरिंग कॉलेज के छात्र थे, एक रूम में रहते थे। हम तो पटना यूनिवर्सिटी के जनरल सेक्रेट्री थे। सभी जाति और समाज के छात्रों ने मुझे वोट दिया था।  नीतीश कुमार का कोई सोंच और सिद्धांत नहीें है। मुलायम सिंह यादव ने कहा कि नीतीश कुमार को महागठबंधन का नेता घोषित कर दिया जाये, तो मैंने कहा कि आप ही कर दीजिए। चुनाव के समय अपने आधार वाले जगहों पर टिकट दिये। हर जगह घुम-घुम कर प्रचार किया। हमें 80 सीट मिला। जदयू को मात्र 71। कुछ लोगों ने हमसे कहा कि आपकी पार्टी को ज्‍यादा सीट आया तो सीएम कौन बनेगा। मैंने कहा कि म्‍ौं उसूलका पक्‍का हूं। नीतीश कुमार को ही मुख्‍यमंत्री बनायेंगे। गरीबों ने मेरे चेहरे पर वोट दिया।  हमने नीतीश को सीएम बनाया, कहा कि काम करने में कोई पेरशानी नहीं होगा। तेजस्‍वी यादव और तेजप्रताप यादव को कहा कि कोई गलत काम नहीं होने पाये, इसका ख्‍याल रखना। तेजस्‍वी के कारण ही जेपी सेतु समय पर बन पाया। लेकिन नीतीश को तेजस्‍वी से जलन हो गया। नीतीश को दलितों से भी जल‍न है।  एकबार नीतीश मेरे घर आये और कहा कि हमें आशिर्वाद दे दीजिए। इस बार भर मुख्‍यमंत्री बना दीजिए। हम बना दिये। जब बन गया तो पैेंतरा लेने लगा। नीतीश को खतरा था तेजस्‍वी यादव से। इसलिय दिल्‍ली जाकर नरेंद्र मोदी और अमित शाह से मिले। मेरे और मेरे परिवार के खिलाफ साजिश रची। बिहार की बेटी मीरा कुमार को भी अपमानित करने का काम किया।  नीतीश कुमार का सांठ-गांठ भाजपा से चल रहा था। लोग बोलते भी थे, लेकिन हम कहते थे‍ कि ऐसा नहीं होगा। लेकिन नीतीश कुमार ने धोखा देने का काम किया। जिस शरद ने नीतीश को मंत्री बनाने का काम किया, वही नीतीश आज शरद को गलिया रहे हैं।  जब सीबीआइ का आदमी छापा मारने आया तो राबड़ी हमको फोन करके बोली। किस केस में आया, क्‍यों आया पता नहीं चला। उसी समय नीतीश राजगीर चले गये।  भ्रष्टाचार पर जीरे टॉलरेंस की बात करने वाले नीतीश सृजन घोटोले पर कार्रवाई क्‍यों नहीं की। सुशील मोदी को भी इस बात की पूरी जानकारी थी। हम मांग करते हैं कि सुप्रीम कोर्ट के रिटायर्ड जज के मॉनिटरिंग में सीबीआइ इस केस की जांच करे।  लालू ने नीतीश पर व्‍यंग्‍य करते हुए कहा “एगो छौंड़ी बुलकी, जने देखे दही चूडा, आेने जा के हुलकी।” ये नीतीश कुमार की अंतिम पलटी है। इसके बाद वह कभी पलटी नहीं मार सकता है।  नीतीश ने कहा कि हम शराबबंद कर देते हैं। हमने कहा कि आस-पड़ोस के राज्‍य में शराब बिक रहा है। शराब आना रूकेगा कैसे। हालत यह है कि घर-घर शराब पहुंचाया जा रहा है। हमने ताड़ी पर से टैक्‍स हटाया था, क्‍योंकि यह दलितों और पिछड़ों के लिए कमाई का साधन था। लेकिन नीतीश कुमार उनसभी को प्रताडि़त कर रहे हैं।  सब कह रहा है कि बिहार में बाढ़ है और लालू रैली कर रहा है। सृजन घोटाला में विपिन नाम का जो आदमी है वह किसान सेल का बीजेपी का अध्‍यक्ष है। कई सारे भाजपा नेता इसमें शामिल है। एक मंडल इस घोटाले का गवाह था, उसे मार दिया गया।   यह लड़ाई यहीं समाप्‍त होने वाली नहीं है। इसके बाद पूरे देश में जायेंगे। देश को बचाना है।  -राबड़ी देवी ने कहा कि मैं बताना चाहती हूं कि बाढ़ इलाके से भी बहुत लोग आये हैं। अपने-अपने पैसे खर्च कर के अाये हैं। साथ देने के लिए अापलोगों को बहुत-बहुत धन्‍यवाद देते हैं। आपलोग लालू प्रसाद जी का ताकत बन रहे हैं। बिहार में संघर्ष कीजिए। देश को बचाइये। देश टूटने के कगार पर है। गरीब आदमी सभी को सताने काम भारत सरकार कर रही है। यही गांधी मैदान है, जहां प्रधानमंत्री आये थे तो बम छूट रहा था। यह सब बीजेपी के लोगों ने बिहार की जनता को बदनाम करने के लिए किया था। सभी लोग हिन्‍दू, मुसलिम, सिख, ईसाई एक हो जायें। बिहार को हमेशा आगे बढ़ाने का काम करें।  प्रधानमंत्री 2 करोड़ लोगों को रोजगार देने और 15-15 लाख देने का वादा किये थे, लेकिन अभी तक कुछ नहीं मिला है। नीतीश कुमार के डीएनए में खोट बताने पर नाखून और बाल दिल्‍ली भेजा गया था, लेकिन आज तक डीएनए जांच का रिपोर्ट नहीं है। हम सब को मिलकर देश को बचाना है। भाजपा को भगाना है।  नीतीश कुमार कहे कि वे तेजस्‍वी के चलते मुंह दिखाने लायक नहीं हैं। नीतीश कुमार में खुद सैंकड़ों छेद है। नीतीश कुमार मर्डर के आरोपी है। लालू जी पर चारा घोटाले का आरोप लगाते हैं। खुद सृजन घोटाला किये हैं। नीतीश कुमार और सुशील मोदी जल्‍दी कुर्सी छोड़े।  बीजेपी के सरकार में गरीबों की आवाज को दबाने का काम किया जा रहा है। गरीबों और पिछड़ों को सताया जा रहा है। लेकिन हम जननायक कर्पूरी ठाकुर और लोहिया जी के सपनों को पूरा करने के लिए उनके बताये रास्‍ते पर चलेंगे। हम आग्रह करते हैं कि सब एकजुट हो जाइये। बीजेपी लड़वाना चाहता है। डराना चाहता है, लेकिन हम डरने वाले नहीं हैं। जो बिहार की जनता कहेगी, हम वही करेंगे।  नीतीश कुमार में इतना हिम्‍मत नहीं है कि अकेले चुनाव लड़ सके। इसलिए बीजेपी के साथ चल गये। हमारे यहां छापा मारे, कुछ नहीं मिला। हम आप सब से कहते हैं कि आप सब एक होकर दंगाइयों के खिलाफ वोट कीजिए। नीतीश कुमार को भी बिहार से भगाइये।  – पश्चिम बंगाल की मुख्‍यमंत्री ममता बनर्जी ने सभा को संबोधित करते हुए कहा कि बाढ़ के कारण बिहार और बंगाल दोनों जगह बाढ़ है। हम काफी दुखी है। जितना लोग मैदान में है, उससे अधिक सड़क पर भी लोग हैं। मैंने देखा कि आप लोग आये और चले गये, ऐसा नहीं है। सभी लोग मैदान में मौजूद हैं। आपलोगों ने दिल से मीटिंग को लिया है।  इससे पहले नीतीश जी को मुख्‍यमंत्री बनने के समय शपथ ग्रहण समारोह में आये थे। लेकिन हम नीतीश जी के लिए नहीं बिहारवासियों के लिए आये थे।  आज भारत में एक ऐसी सरकार है, जो कहती है कि कोई भी थोड़ा आवाज निकाले तो उसे जेल में भर दो। हमने भी कह दिया है कि देखते हैं तुम्‍हारे पास कितना जेल है। तुम कितने लोगों को जेल में भेजते हो। तीन साल से इस सरकार को देख रही हूं। सिर्फ झूठ बोलना है। भगवान को भी अपना एजेंडा बना लिया है। भ्रष्‍टाचार की बात करते हैं, लेकिन खुद सबसे ज्‍यादा भ्रष्‍टाचार करते हैं।  आज नीतीश जी ने लालू जी को छोड़ा, लालू जी ने नहीं। आने वाले दिनों में बिहार की जनता नीतीश जी को छोड़ कर लालू जी को साथ ले आयेगी। हम लालू जी के बात का विश्‍वास करते हैं।  हमारे देश के गरीब के उपर अत्‍याचार हो रहा है। अल्‍पसंख्‍यकों, हिन्‍दुओं और सिखों के उपर अत्‍याचार हो रहा है। कभी बिहार के उपर हो रहा है तो कभी बंगाल तो कभी यूपी, तो कभी लालू के उपर। लेकिन सबसे ज्‍यादा खतरा हिन्‍दुस्‍तान के उपर है।  जब नशबंदी में इंदिरा गांधी की सरकार जा सकती है, तो नोटबंदी में भाजपा की भी सरकार जायेगी। माल महाराजा का और मिर्जा खेले होली। लालू जी के नाम पर वोट मिला और नीतीश कुमार सरकार बनाये भाजपा के साथ। आने वाले दिनों में जनता इसका हिसाब लेगी।  हमारे यहां हमेशा दंगा करवाने की कोशिश करते हैं, लेकिन खुद से एक दंगा नहीं संभलता है। जबकि उनके पास आर्मी है और सेना है। मुदई लाख बुरा चाहे तो क्‍या होता है, वही होता है जो मंजूर ए खुदा होता है। हमको गाली देता है कि हम हिन्‍दू नहीं है। अरे हम हिन्‍दू में जन्‍म लिये हैं, ये सर्टिफिकेट क्‍या वे देंगे। रहा गुलशन तो हवा खिलेंगे, रहा संघर्ष तो बीजेपी जायेगी। बात 2022 की करते हैं, अरे पहले 2019 तो जीतो। अच्‍छे दिन की बात करते हैं, अरे हिन्‍दू नहीं रहेगा, मुसलिम नहीं रहेगा तो किसके असली दिन आयेंगे। खाली भाषण देने से काम नहीं चलेगा। हमारा संघर्ष जारी रहेगा। ये तो शुरूआत है, देश से बीजेपी को भगाने के लिए।  -तेजप्रताप यादव ने कहा कि हमारे पिता ने नीतीश कुमार जी का नाम पलटू राम रखा रखा है और सुशील मोदी जो आ के सलटा देते हैं। एक घंटा में खेला करने का काम किया। रातों-रात नीतीश कुमार और सुशील मोदी बियाह कर लेते हैं। आज जो हमारा दिल गदगद हो गया मेरे भाई। मैं सोउंगा नहीं, सांस नहीं लूंगा, जब तक बीजेपी के राज को नहीं छीन लूंगा।  राजद की रैली को भगवान कृष्‍ण भी देख रहे हैं। मौसम भी हमारे साथ है। मेरा भाई तेजस्‍वी मेरा अर्जुन है। आज मैं शंखनाद करूंगा, जैसे भगवान श्रीकृष्‍ण ने किया था। बीजेपी में कोई नेता शंख नहीं बजा पायेगा। नीतीश कुमार जी का जान ही निकल जायेगा।  अब लड़ाई शुरू हो गया है। मैं पूछना चाहता हूं कि बीजेपी और नीतीश कुमार को उखाड़ना है कि नहीं? नीतीश जी कहते थे कि मिट्टी में मिल जाउंगा, लेकिन आरएसएस के साथ नहीं जाउंगा। लेकिन आज उसी की गोद में चले जायेंगे। आरएसएस वाले हाफ पैंट पहनते हैं क्‍योंकि उनका दिमाग हाफ है। हमारा संगठन डीएसएस आरएसएस के खिलाफ सभी लोगों को साथ लाने का काम करेगा। हिन्‍दू, मुसलिम, सिख और ईसाई सब साथ रहेंगे।  – जदयू के बागी नेता शरद यादव ने कहा कि आज बिहार में पूरे देश की तरफ से यह संग्रामी सभा रखी गई है। अफसोस मुझे है कि 440 लोग जो पानी से जान गंवाया। जब कोसी का जलजला आया था तो मैं उस समय वहां का सांसद था, तब कांग्रेस सरकार ने 1000 करोड़ दिया था। कामना करता हूं कि ऐसे भारत का निर्माण हो, जहां इस तरह से किसी की जान न जाये।  हमारी जिंदगी का ऐसा दौर है, जब छाया भी हमारे खिलाफ है। सारा देश यहां बैठा था, यहां के गरीब लोगों ने हमसे ज्‍यादा मेहनत की। इसी मंच पर भाजपा के खिलाफ महागठबंधन बना था। ऐसा इंकलाब किया कि जो लोग सोचते थे कि कोई हमारा रथ नहीं रोक सकता, बिहार के लोगों ने उसे बुरी तरह से पटखनी है।  इस बार जिस हालत में देश है, वह बहुत ही बुरा है। एक तरफ देश में किसान आत्‍महत्‍या कर रहा है, तो दूसरी ओर किसानों की हत्‍या की जा रही है। लेकिन बिहार की जनता ने, यहां की किसानों ने जो किया उससे पूरी सरकार हिल गई। बिहार में महागठबंधन तोड़ने वालों को मैं ज्‍यादा कुछ नहीं कहूंगा। महागठबंधन टूटने का जख्‍म दिल पर है। लेकिन ये जान लें कि पूरे हिन्‍दुस्‍तान में गठबंधन बनेगा।  हरियाणा में जो हुआ, पूरे देश की जनता देख रही है। ट्रेन जली, बस जले, मकान जलाये गये। ये वही लोग हैं, जो बाबा के साथ फोटो खिंचवाते थे और उनके पैर पड़ते थे।  मैंने कई लोगों को मुख्‍यमंत्री बनाया, लेकिन कभी खुद कुर्सी पर बैठने की लालसा नहीं रही। मैंने उनकी खिदमत की है। उन्‍होंने भी की है। लेकिन जनता से बड़ा तो कोई मालिक नहीं है। हमें 70 सालों के भारत को पांच साल में बदलना है। संघर्ष का समय आ गया है। बिहार की जनता को फिर से इंकलाब लाना है।  – कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद ने रैली को संबोधित करते हुए कहा कि आज यहां पूरे देश के नेताओं का जुटान है। हमने पिछले 3-4 सालों से विपक्षी दलों की मीटिंग की। हमेशा 17-18 दलों के नेता ने शिरकत की। यह देश की पहली जनसभा है, जहां दिल्‍ली के बाद इतनेे सारे दल के नेता मौजूद हैं। यह गठबंधन जिसकी बुनियाद बिहार से रखी गई थी। यही मंच था, यही लोग थे। हमारे कांग्रेस के अध्‍यक्ष और उपाध्‍यक्ष भी मौजूद थे। बिहार की जनता से वादा किया था कि हम बिहार की 11 करोड़ जनता की तरफ से शपथ लेते हैं कि जनता को न्‍याय देने के लिए महागठबंधन बनायेंगे। जदयू, राजद और कांग्रेस ने मिलकर भाजपा को पटखनी दी।  पीएम मोदी और उनके सारे मंत्रिमंडल के लोग यहां आये। भाजपा के लोगों ने 26 हेलिकॉप्‍टर और 6 हवाई जहाज उड़ाये, वहीं महागठबंधन के मात्र 4 हेलिकॉप्‍टर। पैसा का कोई हिसाब नहीं। लेकिन उस पैसे की ताकत के साथ हमने लड़ाई लड़ी। 11 करोड़ हमारे भाईयों ने हमें साथ दिया और बीजेपी को पराजय दी। लेकिन जिस मंच से हमने वादा किया था जनता को न्‍याय देने का, उस मंच से एक आदमी गायब है, वह हैं नीतीश कुमार।  नीतीश कुमार ने 11 करोड़ जनता को धोखा दिया। उनके वोट को बीजेपी को बेच दिया। अाप असली जदयू नहीं है। असली जदयू शरद यादव हैं। नीतीश कुमार को दुबारा इलेक्‍शन लड़ना चाहिए। उनको यह हक नहीं की शादि किसी और से करें और भाग किसी और के साथ जायें। शादी यहां हुई है। कोई अदालत ने उनको तलाक नहीं दिया है।  अापसे तो 1 साल में ही धोखा हुआ। लेकिन भाजपा के सवा सौ करोड़ लोगों को भाजपा ने धोखा दिया। युवकों को धोख दिया, युवतियों को धोख दिया। भाजपा वाले बच्‍चों के कातिल हैं। जब घटना हुई तो सबसे पहले मैं पहुंच गया। लेकिन भाजपा और उसके मुख्‍यमंत्री नहीं पहुंचे।  अाज से 10 साल पहले जब बिहार में बाढ़ आयी थी तो कांग्रेस की सरकार ने 1000 करोड़ दिये थे लेकिन आज मोदी सरकार ने मात्र 500 करोड़ दिये हैं। मोदी सरकार के दिन पूरे हो गये हैं। कोई भी उनसे डरने वाला नहीं है।  कांग्रेस नेता सीपी जोशी ने सोनिया गांधी के रिकार्डेड मैसेज भी मंच पर दिखाया गया। सोनिया गांधी ने अपने मैसेज में कहा कि मैं सभी को यह भरोसा दिलाती हूं कि समाजिक भरोसे और सर्वजन हिताय और सर्वजन सुखाय के रास्‍ते पर हमें चलना है।  इस रैली का आयोजन ऐसे समय में हो रहा है जब कट्टरता के बीज नये सिरे से बोये जा रहे हैं। आज मुल्‍क की सत्‍ता में बैठे लोग चाहते हैं कि जनता मूर्ख बनी रहे। बिहार में जनादेश का जैसा अपमान हुआ, यह पूरे देश का अपमान है। यह रैली उस प्रदेश में हो रही है, जहां चंपारण आंदोलन और भारत छोड़ोें आंदोलन शुरू हुआ था। हमें एक ऐसी सरकार के खिलाफ डटकर खड़ा होना है, जो झूठे सपने दिखाकर सत्‍ता में आया। आप ही बतायें कि इस सरकार ने कितने लोगों को रोजगार दिया। उल्‍टे रोजगार छीन लिया गया। बच्‍चों की अस्‍पताल में जान जा रही है।  सत्‍ता के संरक्षण में अनर्गल विचारों को थोपने का जो काम हो रहा है, वैसा कभी नहीं हुआ है। आज यह तय करने का वक्‍त आ गया है कि हम इतिहास के किस धारा के साथ चलेंगे। हम उस रास्‍ते पर चलेंगे, जो हमें बापू ने सिखाया है आैर पूरी दुनिया में सम्‍मानजनक पहचान बनायी है। भारत की विविधिता, उदारता और अखंडता को हम सब को मिलकर रक्षा करनी है। आज की रैली में अलग-अलग उंगलियों को एक कर के मजबूत मुट्ठी बना दिया है।    – झामुमो नेता हेमंत सोरने ने मंच से कहा कि इस ऐतिहासिक मैदान से देश को बचाने की आवाज निकली है। उस आवाज को उठाने वाले लालू यादव को हम धन्‍यवाद देते हैं। यह जनसैलाब व्‍यवस्‍था के खिलाफ आक्रोश है। नौजवान साथियों से कहूंगा कि हमारे पूर्वजों ने देश की एकता और अखंडता को बचाने के लिए काफी मेहनत किया है। लेकिन दुर्भाग्‍य की बात है कि देश पर ऐसी साप्रदायिक ताकत का शासन है जो इसे तोड़ने में लगी है। दलितों से दलितों को और पिछड़ों को पिछड़ों से लड़ाने का कम कर रही है ।  इस डिजिटल इंडिया के सरकार में 19 करोड़ लोग भूखे सोते हैं। ये लोग आज तक मात्र साढ़े 6 लाख रोजगार ही पैदा करने में सक्षम हो सके हैं। जितने भी बातें कही, वह जुमला साबित हुआ। खाते में 15 लाख देने की बात कही थी, लेकिन पैसा तो आया नहीं, घर का भी पैसा निकलवा लिया।  हमारा देश कृषि प्रधान देश है, लेकिन कहीं किसान सड़कों पर सब्‍जी फेंकने को मजबूर हो रहे हैं तो कहीं दूध फेंक रहे हैं। आज ये देश अजीब हालात से गुजर रहा है। देश अजीब भंवर में फंस गया है। इससे इसको निकालने की जरूरत है। उम्‍मीद है कि हम सब एकसाथ मिलकर देश से भंवर को निकालने का प्रयास करेंगे। भाजपा को गोवा से लेकर पूरे देश में कहीं भी बहुमत नहीं मिला, लेकिन भाजप सरकार बनाती है। ये धर्म के लूटरे के साथ-साथ लोकतंत्र के भी लूटेरे हैं। इन देशद्रोहियों और राष्‍ट्रदोहियों को जवाब देना है।  आज पूरे देश में आक्रोश है। दलितों, पिछड़ों को सताया जा रहा है। गुजरात में नंगा कर पीटा जा रहा है। आवाज उठाने पर जेल में डाल दिया जाता है। यह व्‍यापारियों की पार्टी है। चाणक्‍य ने कहा है कि जिस देश का राजा व्‍यापारी होता है, उस देश की प्रजा भिखारी होती है। आज हमें इन व्‍यापारियों को देश की सत्‍ता से हटाने का संकल्‍प लेना है।  – समाजवादी पार्टी के अध्‍यक्ष और उत्‍तरप्रदेश के पूर्व मुख्‍यमंत्री अखिलेश यादव ने सभा को संबोधित करते हुए कहा कि आदरणीय लालू प्रसाद यादव जी को बधाई देना चाहता हूं। ये जो जनसैलाब दिखाई दे रहा है, यह सब डिजिटल इंडिया वाली पार्टी भाजपा वाले भी देख रहे होंगे। यह आवाज 11 करोड़ जनता की आवाज है। उत्‍तर प्रदेश 22 करोड़ का  है। आपकी आवाज से आवाज मिला देगा। बंगाल से भी आवाज निकलेगी कि हमें देश बचाना है।  हम देश इसलिए बचाना चाहते हैं क्‍योंकि इन्‍होंने देश को पीछे कर दिया। गरीबों और किसानों को सबसे अधिक परेशानी हुई है। अब तो तीन साल बीत गये, अब तो समझा दो कि अच्‍छे दिन कब आयेंगे। हम बिहार की जनता से पूछेेंगे कि तीन साल में उनके जीवन में कितना परिवर्तन आया है। नौजवानों को तो कुछ मिला नहीं है और मिलेगा भी नहीं। वे जानते हैं कि हम मोबाइल पर कुछ फैला देंगे, टीवी पर कुछ फैला देंगे। ये तो भला हुआ कि राम-रहीम के चक्‍कर में कुछ सच सामने आने लगा है।  अाप बताओ तो कि कहां हैं भगवान, हम वहीं झुक जायेंगे। कहीं चोरी हो जाये, डकैती हो जाये, लेकिन पेड़ से टंगा घंटा आजतक चोरी होते नहीं देखा। हमारा देश आबादी में बहुत बड़ा हो गया है। इन्‍होंने कहा कि नोटबंदी से भ्रष्‍टाचार खत्‍म हो जायेगा, आतंकवाद खत्‍म हो जायेगा, हम बिहार की जनता से पूछना चाहते हैं कि आखिर किसी फायदा हुआ। हम पहले से ही कहते हैं कि पैसा काला-सफेद नहीं होता। लेन-देन के तरीके से होता है। नोटबंदी बैंकों में पैसा वापस लाने के लिए किया गया।  बिहार में बाढ़ आयी है, यूपी में बाढ़ आयी है। पैकेज दिया गया है। लेकिन जिनकी जान चली गई, जिनका गाय बह गया, उनका क्‍या होगा। न्‍यू इंडिया वाले लोग पता नहीं कौन से भारत बनाने चाहते हैं। हम तो किसानों और नौजवानों का भारत बनाना चाहते हैं। हमने उत्‍तर प्रदेश में काम भी किया है। उत्‍तर प्रदेश में समाजवादी लोगों ने सबसे बड़ा एक्‍सप्रेस वे बनाकर दिखाया है। डिजिटल इंडिया की बात करने वालों ने हमारी योजना चुरा ली। हम यूपी में फ्री मोबाइल देना चाहते थे। लेकिन आज कोई कंपनी फ्री में देने वाली है।   बिहार की धरती क्रांतिकारी धरती है। जब यह धरती रथ रोक सकती है तो बीजेपी को भी रोक सकती है। आपको रोक कर दिखाना है। हमारे उपर भी जांच हो रही है। हमारे यहां रोमियो को पकड़ा जा रहा है। लेकिन ये तो बता दो कि सबसे अधिक किस पार्टी के रोमियो को पकड़ा जा रहा है।   हम चाहते हैं कि ऐसा देश बने कि किसानों, नौजवानों सबको हक मिले। आज तो आधार बन गया है। देश में 80 प्रतिशत तक आधार बन गया है। जो कुछ हिसाब-किताब लगाना है तो आधार से लगाओ। सबको हक दो। गिनती आपके पास है। सबको उनका हक दे दो। बिहार के लोगों से आग्रह करता हूं कि आप सब इस संघर्ष में हमारा साथ दें। भाजपा को भगाने काम करें।   – रालोद के नेता चौधरी जयंत सिंह ने कहा कि यह महारैली नहीं, रैला है रैला। हम बिहार की जनता का अभिवादन करते हैं। सभी लोग लालू जी के साथ खड़े हैं। पूरे देश में जब-जब समाजिक क्रांति आयी है, उसकी चिंगारी बिहार से ही निकली है। चंपारण से राजकुमार शुक्‍ला जी, स्‍वामी सहजानंद जी आदि ने जो चिंगारी जलाई, वह सब लोग जानते हैं। आज दुबारा वहीं परिस्‍थतियां हैं। देश में लोगों को बोलने नहीं दिया जा रहा है। वक्‍त आ गया है सवाल पूछने का। तेजस्‍वी ने आज सारे सवाल जनता की अदालत में रखे हैं। तेजस्‍वी जी आपने कहा कि आपके साथ धोखा दिया। जनता के जनादेश के साथ धोखा हुआ। नीतीश कुमार ने जनता के साथ धोखा किया है।  मोदी सरकार ने वादा किया था कि खातों में 15-15 लाख देंगे। 2 करोड़ लोगों को रोजगार देंगे। लेकिन न तो लोगों को रोजगार मिला और न ही खाते में पैसे आये। नोटबंदी के बाद अर्थव्‍यवसथा चौपट हो गई। गरीबों और मजदूरों का रोजगार छीन लिया।  गोरखपुर की घटना कोई नहीं भूला सकता है। मोदी जी कहते हैं कि यह आपदा है। यह आपदा नहीं हत्‍या है। बिहार के लोग समझदार हैं। मैं सिर्फ यही कहना चाहता हूं कि बिहार के सपूत दिनकर जी ने जो कहा था कि सिंहासन खाली करो, जनता अब आती है।  -राकंपा नेता तारिक अनवर ने संबोधित करते हुए कहा कि देश एक एेसे रास्‍ते पर चल रहा है, जिससे आने वाले दिनों में एकता और अखंडता खतरे में पड़ सकती है। लोग डरे हुए हैं। हम सब को एकसाथ आकर पूरे देश से भाजपा को भगाना है।  राजद अध्‍यक्ष लालू प्रसाद यादव के पुत्र और बिहार के पूर्व उपमुख्‍यमंत्री तेजस्‍वी यादव ने जनसभा को संबोधित करते हुए कहा कि बाढ़ के बावजूद भी जो जोश और जुनून दिख रहा है, उसके लिए अाप सब का अभिनंदन करते हैं। आपसब कहें तो अपने प्रिय चाचा नीतीश जी को भी हाथ जोड़कर प्रणाम करते हैं। हमारे परिवार ने बड़े-बुजुर्गों का सम्‍मान करना सिखाया है। वो हमारे चाचा हैं और रहेंगे लेकिन अब अच्‍छे चाचा नहीं रहे।  नीतीश जी हमारे साथ छोड़ कर भले ही चले गये, लेकिन महागठबंधन टूटा नहीं है। असली जदयू के नेता हमारे चाचा शरद यादव हैं। हमारे प्रिय चाचा नीतीश जी का आज से उल्‍टी गिनती शुरू हो गया है। हम युवाओं को कहना चाहते हैं कि अाप लोग जो हर-हर मोदी, घर-घर मोदी का नारा लगाते थे, वो बड़-बड़ मोदी और गड़बड़ मोदी हैं।  आप सब लोग जानते हैं कि चाचा नीतीश ने कहा था कि संघ मुक्‍त भारत बनायेंगे लेकिन आज संघ के गोदी में जाकर बैठ गये। हे राम की जगह जयश्रीराम कहने लगे। गांधी जी के हत्‍यारों के साथ जा मिले।  हम भालगपुर गये तो धारा 144 लगा दिया गया। हमारे रूकने की व्‍यवस्‍था तक नहीं की। ये लोग डरे हुए लोग हैं। जनादेश की डकैती है। सृजन घोटाले में जदयू और भाजपा के नेता शामिल हैं। मुख्‍यमंत्री जी पर आर्म्‍सएक्‍ट का मुकदमा चल रहा है। दिल्‍ली हाईकोर्ट ने 20 हजार का जुर्माना लगा दिया है।  तेजस्‍वी तो बहाना था, सृजन का पाप छुपाना था, भाजपा की गोद में जाना था। हम डरने वाले नहीं हैं। लालू जी का खून है। इन लोगों ने जो भ्रष्‍टाचार किया है, वह सब सामने आयेगा। यह तो मात्र एक जिला का है। कुछ दिन पहले नीतीश जी भागलपुर गये थे ताकि सारी सबूतों को मिटा दिया जाये। सृजन में भी दो मौत हो चुकी है। जो मुख्‍यआरोपी था, उसकी रहस्‍यमतरीके से मौत हो गई।  हम पूछना चाहते हैं कि अब आपकी अंतरआत्‍मा कहां गई। क्‍या वह मोदी आत्‍मा था या कुर्सी आत्‍मा था। नीतीश कुमार ने हमारी पीठ में छुरा घोपने का काम किया। जनादेश का अपमान करने का काम किया। यह जनसैलाब उसी अपमान का बदला लेने आयी है।  पीएम मोदी ने बिहार के डीएनए पर सवाल उठाया था। नीतीश जी और उनके लोगों ने बाल और नाखून काटकर दिल्‍ली भेजे थे। क्‍या हुआ उस डीएनए की जांच का। उसे फिर से दिल्‍ली से लाकर पटना के म्‍यूजियम में रख दिया जाये।  आज हम भाजपा के लोगों से पूछना चा‍हते हैं कि क्‍या आपलोगों ने भी घोटाला किया था, जो मंत्रिमंडल से हटा दिया था। नीतीश कुमार जी ने सभी लोगों के साथ धोखा दिया है। बीजेपी के लोग अभी ही एफिडेविट पर लिखवा लें कि वे फिर से पलटी नहीं मारेंगे। ऐसा कोई सगा नहीं, जिसे नीतीश ने ठगा नहीं।  जनता इस जनादेश के अपमान का बदला लेगी। हिन्‍दुस्‍तान का मेरा पहला परिवार होगा, जिसकी तीन-तीन पीढ़ीयों ने सीबीआइ का छापा देखा। जब तक हम देश से बीजेपी और आरएसएस को भगा नहीं लेते, चैन से नहीं बैठेंगे। जिस तरह से श्रीकृष्‍ण भगवान ने सुदामा की मदद की थी। उसी तरह से हमें कृष्‍ण बनकर पिछड़ों, दलितों और समाज के अंतिम पायदान पर बैठे लोगों की मदद करनी है।  तेजस्‍वी ने जनता से पूछा कि क्‍या हम भ्रष्‍टाचारी हैं। सही से पहचान लिजीए कि ईमानदारी का चोंगा पहने भ्रष्‍टाचारी आपको फिर से ठगने आयेगा। लेकिन आप सबको इस धर्म और अधर्म की लड़ाई में आप सब धर्मपुत्र को बचाने का काम करेंगे। देश बचाना है आपको, भाजपा को भगाना है आपको। हम जोड़ने की बात करते हैं, ये तोड़ने की बात करते हैं। हम न्‍याय की बात करते हैं, ये अन्‍याय की बात करते हैं। सब गोलबंद हो जाइये। हमें साथ मिलकर लड़ाई लड़नी है।  तेजस्‍वी ने केंद्र सरकार पर हमला करते हुए कहा कि ये पूंजिपतियों की सरकार है। गरीब किसानों का कर्ज माफ नहीं करेगी। अडानी-अंबानी का कर्ज माफ करेगी।  मैं हाथ जोड़कर पीएम मोदी से कहता हूं आप प्रत्‍येक वर्ष 2 करोड़ लोगों को रोजगार देने का काम कीजिए। गरीबों के खातों में 15-15 लाख रूपये देने का काम कीजिए।  ये मंडल और कमंडल की लड़ाई है। गरीब और अमीर की लड़ाई है। सब एकजुट होकर लड़ाई लड़ें। मैं कसम खाता हूं कि जब तक इन जुमलेबाजों को बिहार और दिल्‍ली से नहीं हटायेंगे तब तक चैन से नहीं बैठैंगे।  झारखंड विकास मोर्चा के नेता और झारखंड के पूर्व मुख्‍यमंत्री बाबू लाल मरांडी ने कहा कि देश संकट के दौर से गुजर रहा है। नरेंद्र मोदी की सरकार न तो कानून को मानती है और न हीं संविधान को। अभिव्‍यक्ति की स्‍वतंत्रता पर खतरा मंडराने लगा है। हम क्‍या करेंगे और क्‍या लिखेंगे, सब वे तय करने लगे हैं। यदि उनके मन-मुताबिक काम नहीं करेंगे तो सीबीआइ का छापा मरवा देंगे।  झारखंड में तो वह यह भी तय कर चुके हैं कि आप किस भगवान की पूजा करेंगे। आप बिना पूछे कहीं जा नहीं सकते हैं। झारखंड में किसान भाजपा सरकार की मर्जी के बिना खेती भी नहीं कर सकते हैं। हम सब को लोकतंत्र को सुरक्षित रखने के लिए एक साथ आकर आगे बढ़ना होगा। भाजपा की सरकार को पूरे देश से भगाना होगा, तभी लोकतंत्र जिंदा रहेगा।  – राजद नेता रघुवंश प्रसाद सिंह ने गुजरात में कहा कि हर जगह भाजपा पैसों का खेल कर रही है। गुजरात में जब कांग्रेस पैसे से न बिके और बैंगलोर में जा कर छिप गये तो वहां भी नरेंद्र मोदी ने छापा पड़वा दिया। जब बिहार में लालू यादव ने महागठबंधन बनाकर भाजपा विरोधी खेमों को मजबूत करने की कोशिश की तो यहां भी तोड़-फोड़ शुरू कर दी।   नीतीश कुमार ने जनता के साथ विश्‍वासघात किया है। भाजपा के साथ नीतीश की सरकार अनैतिक सरकार है। इस सरकार को हटना चाहिए। लंबा आंदोलन चलेगा। जनादेश के साथ विश्‍वासघात हुआ, नैतिकता का गला घोंट दिया। आज भी भाजपा की हुकूमत में करोंड़ों लोगों का रोजगार छीन लिया। पढ़ाई चौपट है। स्‍कूल-कॉलेज में टीचर नहीं है। अस्‍पताल में डॉक्‍टर नहीं है। मध्‍यप्रदेश में किसानों पर गोलियां चलवायी गई। किसान आत्‍महत्‍या कर रहे हैं। महाराष्‍ट्र में आंदोलन हुआ है।   देश पर खतरा है। यह जनसैलाब को देखो। पटना भरा हुआ है। पूरे देश से नेता लोग आये हुए हैं। हम सब मिलकर भाजपा को देश से हटाने का काम करेंगे। नौजवानों के भविष्‍य को उज्‍जवल बनाने का काम करेंगे। गांव-गांव में लोग बोल रहा है कि एक है आसाराम, दु गो है झासाराम। इन दोनों से सावधान रहना है।   – मंच से जनता को संबोधित करते हुए समाजवादी नेता और राजद के राष्‍ट्रीय उपाध्‍यक्ष शिवानंद तिवारी ने कहा कि नीतीश कुमार ने जनता को धोखा देने का काम किया। सब लोग जानते हैं कि लालू यादव के घर जो सीबीआइ  रेड हुआ, एफआइआर में तेजस्‍वी का नाम डाला गया, वह सब प्रायोजित था। नीतीश कुमार से जनता सवाल कर रही है कि आपने हमें धोखा क्‍यों दिया।   – तृणमूल कांग्रेस की अध्‍यक्ष और पश्चिम बंगाल की मुख्‍यमंत्री ममता बनर्जी मंच पर पहुंच चुकी हैं। राबड़ी देवी और लालू यादव ने गुलदस्‍ता देकर उनका स्‍वागत किया।  – लालू यादव ने मंच से कहा कि यहां जितने लोग मौजूद हैं, उससे अधिक लोग और आ रहे हैं। सभी लोग अनुशासन बनाकर रहें। अभी इंद्र भगवान का कृपा है।   – जदयू के बागी नेता शरद यादव भी मंच पर पहुंच चुके हैं। शरद यादव और लालू यादव गर्मजोशी के साथ मंच पर गले मिले। बालू लाल मरांडी भी मंच पर पहुंच चुके हैं।   – राजद अध्‍यक्ष लालू प्रसाद यादव मंच पर पहुंच चुके हैं। उनकी एक झलक पाने को कार्यकर्ता बेचैन दिखे। चारो ओर लालू यादव जिंदाबाद का नारा गूंजने लगा।   – राजद अध्‍यक्ष लालू प्रसाद यादव की बेटी और राज्‍यसभा सांसद मीसा भारती गांधी मैदान पहुंच चुकी हैं। उनके पहुंचते ही समर्थकों ने जमकर नारेबाजी की। मीसा ने मंच से सभी लोगों का अभिवादन किया। उनके साथ उनकी मां राबड़ी देवी भी पहुंची।    – कांग्रेस के प्रतिनिधि गुमान नबी आजाद पटना पहुंच चुका है। वहीं, सपा सुप्रीमो अखिलेश यादव भी पटना के गांधी मैदान में पहुंच चुके हैं। राबड़ी देवी ने गलदस्‍ता देकर उनका स्‍वागत किया। लालू यादव और अखिलेश ने एक साथ हाथ उठाकर चट्टानी एकता के संकेत दिये।   – रैली में जाने के पहले बोले तेजस्‍वी, आज से नीतीश व भाजपा की उल्‍टी गिनती शुरू।  – रैली के लिए लालू प्रसाद घर ने निकल चुके हैं। उनके साथ राबड़ी देवी भी हैं। इसके करीब 15 मिनट पहले तेजस्‍वी यादव निकल चुके हैं। तेजप्रताप भी रवाना हो चुके हैं।  – रैली के लिए जा रहे राजद समर्थकों ने आयकर गोलंबर पर नकली स्‍टेनगन से फायरिंग की। हथियार बिलकुल असली जैसे होने के कारण अफरा-तफरी मच गई। पुलिस ने दो समर्थकों को हिरासत में लिया।  – रैली को लकर पटना में सड़कों पर राजद समर्थकों का हुजूम उमड़ पड़ा है। गांधी मैदान में भी भीड़ बढ़ने लगी है।  – रैली को लेकर नेताओं का पहुंचना आरंभ है। गांधी मैदान पहुंचे रमई राम की गेट पर सुरक्षा बलों से गाड़ी अंदर करने के सवाल पर नोंक-झाेंक हुई।

Check Also

क्रॉसिंग पर ट्रेन से टकराई स्कूल बेन,11 बच्चों की मौत

उत्तर प्रदेश के कुशीनगर में एक बड़ा हादसा हुआ है. दुदही रेलवे क्रासिंग पर स्कूल …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *