Home / देश / सांडों का आतंक बरकरार :फिर एक राहगीर को किया मरणासन्न

सांडों का आतंक बरकरार :फिर एक राहगीर को किया मरणासन्न

ग्वालियर। जिले  में इन दिनों सांडों का आंतक थमने का नाम नही ले रहा है… आज सुबह दो साड़ो की लड़ाई में एक बुजुर्ग गंभीर रूप से घायल हो गया। जो अब जिंदगी ओर मौत की जंग लड़ रहा है। वैसे ग्वालियर में अभी तर सांडों से दो लोगों की मौत चुकी है…. साथ ही एक सैकड़ा से अधिक लोग घायल बावजूद इसके नगर निगम की गिरफ्त से ये सांड दूर है….।

 

ग्वालियर जयारोग्य अस्पताल के आईसीयू में भर्ती बुजुर्ग जीवनराम प्रजापति जिंदगी ओर मौत की जंग लड़ रहा है। जीवनराम ग्वालियर के विनय नगर सेक्टर 4 के रहने वाले है। वे अपने घर के काम निकले थे। इस दौरान दो सांड सड़क पर लड़ रहे थे। वे कुछ समझत पाते… इससे पहले ही सांडों पर उन हमला कर दिया।जिसके चलते वे गंभीर रूप से घायल हो गए।

जीवनराम प्रजापति को गंभीर हालत में ग्वालियर के जयारोग्य अस्पताल के आईसीयू में भर्ती किया है। सांडों ने अपने दोनों पैरों से उनकी छाती पर हमला किया था। ये कोई पहला मामला नही है, जब सांडों ने किसी बुजुर्ग व्यक्ति को अपना शिकार बनाया हो। इससे पहले भी सांडों के हमले से एक छात्रा ओर एक बुजुर्ग की मौत हो चुकी है। साथ ही सैकडों लोग घायल भी…।

सांडों के आंतक को देखते हुए ग्वालियर नगर निगम सांडो को पकड़ने के लिए अभियान चला रही है। इस दौरान अभी तक निगम के अमले ने 700 से ज्यादा सांडों को अपनी गिरफ्त में ले लिया है। लेकिन अभी भी सांडों का आंतक ग्वालियर शहर से खत्म नही हो रहा है…।

निगम की कोशिश है, कि वह शहर से सांडों को पकड़कर किसी जंगल में छोड़ दे। लेकिन नगर निगम की मेयर इन काउंसिल की तरफ से हरी झंड़ी नही मिल रही है। जिसके कारण अब गौशाला में भी इन उपदर्वी सांडों को रखने में परेशानी आ रही है… ऐसे में सवाल यही है कि अखिर ग्वालियर में सांडों का आंतक कब खत्म होगा…।

Check Also

बहन की शादी में शामिल होने आए युवक की नदी में डूबने से मौत

जमुई.बिहार के जिमुई जिले में बुधवार सुबह नदी में डूबने से एक युवक की मौत …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *